नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के पुत्र एवं अपने पति रोहित शेखर तिवारी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार अपूर्वा शुक्ला तिहाड़ जेल में टैरो कार्ड रीडिंग सीख रही है और अपने पति का कथित तौर गला घोंटने को लेकर उसमें अफसोस की कोई भावना नहीं दिखती है.

तिहाड़ जेल में करीब डेढ़ वर्षों से कक्षाएं संचालित कर रही डॉ. प्रतिभा सिंह ने बताया कि जेल में कार्ड रीडिंग सत्र सप्ताह में दो बार मंगलवार और शुक्रवार को दो घंटे के लिए होते हैं. उन्होंने बताया कि अपूर्वा आगे की पंक्ति में बैठती है.

सिंह ने कहा, अपूर्वा ने शुरुआत में मुझसे संपर्क किया. हमने अभी तक सात कक्षाएं पूरी की हैं. अपूर्वा कक्षा में हमेशा मौजूद रहने का पूरा प्रयास करती है. एक बार अदालत में सुनवायी के चलते उसकी कक्षा छूट गई थी और उसे इसका अफसोस हुआ था.

उन्होंने कहा कि 36 वर्षीय अपूर्वा टैरो कार्ड रीडिंग पांच-छह वर्षों से सीखना चाह रही थी, लेकिन किसी ना किसी कारण से नहीं सीख पा रही थी. वह इसे सीखने में काफी रूचि ले रही है. शिक्षिका ने कहा कि हत्या की आरोपी अपूर्वा शांत रहती है.

जेल सूत्रों ने बताया कि अपूर्वा जेल में महिला प्रकोष्ठ में कैद है और अपने पति का कथित तौर गला घोंटने को लेकर उसमें अफसोस की कोई भावना नहीं दिखती है. बता दें कि कि रोहित शेखर की 15 अप्रैल की रात हत्या कर दी गई थी.