अगरतला: त्रिपुरा में भाजपा के वाम मोर्चे के 25 साल के शासन का अंत करने के करीब पहुंचने के बीच प्रदेश पार्टी अध्यक्ष बिप्लव देब ने शनिवार को कहा कि वह मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी लेने को तैयार हैं लेकिन इस बारे में फैसला भाजपा संसदीय बोर्ड को लेना है. Also Read - यूपी सरकार ने कोरोना वायरस की स्थिति को स्टेट डिजास्टर घोषित किया

जिम इंस्ट्रक्टर से नेता बने देब ने भारी समर्थन के लिए त्रिपुरा के लोगों का आभार जताया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को पार्टी के शानदार प्रदर्शन का श्रेय दिया. यह पूछे जाने पर कि क्या वह मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी लेंगे, देब ने कहा, ‘‘मैं जिम्मेदारी लेने के लिए तैयार हूं. मैं कोई भी जिम्मेदारी लेने से पीछे नहीं हटूंगा.’’ Also Read - Coronavirus: CM नीतीश कुमार की घोषणा- संक्रमित लोगों के इलाज का पूरा खर्च बिहार सरकार वहन करेगी

हालांकि उन्होंने कहा कि त्रिपुरा के अगले मुख्यमंत्री को लेकर अंतिम फैसला भाजपा संसदीय बोर्ड करेगा जिसकी रविवार शाम नई दिल्ली में बैठक होगी. देब ने कहा, ‘‘मुझे पहले ही एक बड़ी जिम्मेदारी मिली हुई है जोकि प्रदेश में पार्टी की कमान संभालने की है, जिसे मैं अपनी पूरी क्षमता से निभाता रहा हूं.’’ Also Read - कमलनाथ सरकार संकट में? सिंधिया समर्थक 17 विधायकों से संपर्क टूटा, कई MLA बेेंगलुरु पहुंचे

भाजपा-आईपीएफटी गठबंधन ने 30 सीट जीतकर त्रिपुरा में बहुमत हासिल किया है. निर्वाचन आयोग के अनुसार गठबंधन अभी 13 अन्य सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.