नई दिल्ली: क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2019 का लोकसभा चुनाव ओडिशा के पुरी सीट से लड़ेंगे? बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधायक प्रदीप पुरोहित ने बुधवार को दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी लोकसभा चुनाव में ओडिशा की पुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. हालांकि प्रधानमंत्री ने मंगलवार को इस मुद्दे पर कहा था कि यह मीडिया की देन है, बावजूद इसके पुरोहित ने यह दावा किया है. भाजपा नेता ने पत्रकारों से कहा, ‘कोई भी प्रधानमंत्री के पुरी से चुनाव लड़ने से इनकार नहीं कर सकता है. प्रधानमंत्री की पुरी सीट से चुनाव लड़ने की 90 प्रतिशत संभावना है.

राम मंदिर पर शिवसेना का सवाल- न्यायालय से निर्णय लेना था तो रक्तपात-नरसंहार किसलिए कराया गया?

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री ओडिशा के लोगों से प्रेम करते हैं और उनका पुरी से लगाव है. लिहाजा अगले चुनाव में वह इस सीट से लड़ सकते हैं. पुरोहित ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2014 का लोकसभा चुनाव वाराणसी से लड़ा था. भगवान जगन्नाथ के आशीर्वाद से वह इस बार पुरी का चयन चुनाव लड़ने के लिए कर सकते हैं. इस पर पार्टी का संसदीय बोर्ड अंतिम फैसला करेगा.

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- अयोध्या में सिर्फ राम मंदिर बनेगा

ओडिशा बीजेपी के उपाध्यक्ष समीर मोहंती ने कहा कि अगर प्रधानमंत्री ओडिशा से चुनाव लड़ेंगे तो यह हमारे लिए खुशी की बात होगी. प्रदेश बीजेपी ने केंद्रीय नेतृत्व को अक्टूबर में ही प्रस्ताव दिया था. बीजेपी के पुरी जिलाध्यक्ष प्रभारंजन मोहपात्रा ने कहा, ‘मेरे ख्याल से मोदी पुरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ सकते हैं. यह इसलिए है कि क्योंकि केंद्रीय बीजेपी नेतृत्व नियमित आधार पर इलाके की स्थिति की समीक्षा करता रहता है. पुरी में भगवान जगन्नाथ का मंदिर है जो हिंदू धर्म के सबसे पवित्र मंदिरों में से एक है.

वंदे मातरम पर रोक, अमित शाह बोले- मध्यप्रदेश को तुष्टिकरण का केंद्र बना रही है कांग्रेस

गौरतलब है कि अक्टूबर 2018 में सीनियर बीजेपी नेता धर्मेंद्र प्रधान और स्मृति ईरानी ने पुरी से पीएम मोदी के चुनाव लड़ने की संभावना पर चर्चा की थी. अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पुरी से चुनाव लड़ते हैं तो वह दूसरे ऐसे प्रधानमंत्री होंगे जो यहां से चुनाव लड़ेगा. 1996 में प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव ने ओडिशा के बरहमपुर से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी ने वाराणसी से जीत हासिल की थी. उनके मुकाबले में कांग्रेस ने अजय राय वहीं आम आदमी पार्टी ने अरविंद केजरीवाल को मैदान में उतारा था.