नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा कि दिल्ली को फिर से खोलने का वक्त आ गया है और लोगों को कोरोना वायरस के साथ रहने के लिये तैयार रहना होगा. उन्होंने लॉकडाउन 3.0 के दौरान ‘रेड जोन’ के लिये केंद्र द्वारा निर्धारित सभी छूट राष्ट्रीय राजधानी में देने की घोषणा की. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि दिल्ली लॉकडाउन हटाने के लिये तैयार है. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार सार्वजनिक स्थानों पर थूकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी. Also Read - लॉकडाउन में अक्षय कुमार के लिए कुछ नहीं बदला, सुबह-सुबह ही इस काम पर लग जाते हैं

केजरीवाल ने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार केंद्र को यह सुझाव देगी कि शहर में सिर्फ निरुद्ध क्षेत्र को ‘रेड जोन’ घोषित किया जाए, ना कि पूरे जिले को. वर्तमान में दिल्ली के सभी 11 जिले ‘रेड जोन’ घोषित किये गये हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 कहीं नहीं जा रहा और यह असंभव है कि कोरोना वायरस के मामले ‘‘शून्य’’ हो जाएं. Also Read - 'क्राइम पेट्रोल' फेम इस एक्ट्रेस ने की आत्महत्या, सोशल मीडिया पर लिखी रूलाने वाली बात

हालांकि इस सबके अलावा सभी के अंदर एक सवाल आ रहा होगा कि आज से दिल्ली में क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा. दिल्ली सहित देश भर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. इसका प्रथम चरण 25 मार्च से 14 अप्रैल तक था. दूसरा चरण 15 अप्रैल से तीन मई तक था. अब लॉकडाउन 3.0 सोमवार (चार मई) से 17 मई तक है. Also Read - Lockdown 4.0: जानें कब खुलेंगे स्कूल-कॉलेज, क्या है गृह मंत्रालय का ताजा आदेश

क्या दिल्ली सरकार के ऑफिस हमेशा की तरह खुलेंगे?
जरूरी सेवाओं वाले दफ्तर में 100% लोग आएंगे. वहीं गैर-जरूरी सर्विसेज वाले दफ्तर में डिप्टी ऑफिसर से ऊपर तक का 100% स्टाफ और उससे नीचे 33% का स्टाफ रहेगा.

क्या प्राइवेट ऑफिस भी खुलेंगे?
प्राइवेट ऑफिस में 33% स्टाफ रहेगा. बाकी कर्मचारी घर से काम कर सकते हैं.

क्या सार्वजनिक परिवहन चलेंगे?
ट्रेन और उड़ान सेवाएं निलंबित रहेंगी. इंट्रा-सिटी और इंटर-सिटी बसों को भी अनुमति नहीं है.

निजी कार चला सकते हैं?
कुछ शर्तों के साथ निजी कारों को अनुमति दी जाएगी. लेकिन एक कार में केवल दो लोग और ड्राइवर को अनुमति दी जाएगी. केवल आवश्यक सेवाओं के लिए आने जाने की अनुमति है.

क्या हाउस मेड घर पर आ सकती हैं?
हाँ. सभी स्व-नियोजित श्रमिकों जैसे प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन आदि को काम करने की अनुमति है.

क्या दिल्ली में कैब चलेंगी?
केंद्र ने सभी जोन में कुछ पाबंदियों के साथ कैब की अनुमति दी है, लेकिन दिल्ली में कैब की अनुमति नहीं दी गई है. ऑटो-रिक्शा, साइकिल रिक्शा, ई-रिक्शा पर भी प्रतिबंध है.

मॉल बाजार खुलेंगे?
केंद्र ने पूरी दिल्ली को ‘रेड जोन’ श्रेणी के तहत रखा है, जिसके चलते बाजार और मॉल नहीं खुल सकते. करोल बाग और नेहरू प्लेस जैसे मार्केट कॉम्प्लेक्स की सभी दुकानें, बंद रहेंगे, केवल जरूरी चीजें बेचने वाली दुकानें खुली रहेंगी.

किस प्रकार की दुकानों की अनुमति है?
आवासीय परिसरों में सभी दुकानें खुल सकती हैं. किताबें और स्टेशनरी बेचने वाली दुकानों को भी अनुमति है.

ऑनलाइन डिलीवरी वालों का क्या?
ई-कॉमर्स? ई-कॉमर्स कंपनियों को केवल आवश्यक चीजों की डिलीवरी करने की अनुमति होगी.

  • शात सात बजे से सुबह सात बजे तक लोगों की आवाजाही की इजाजत नहीं होगी.
  • उड़ानों और बसों पर पाबंदी जारी रहेगी.
  • मॉल, सिनेमा, सैलून, मार्केट कॉम्पलेक्स और दिल्ली मेट्रो बंद रहेगी
  • सरकारी और निजी दफ्तर खुलेंगे.
  • दिल्ली में ई-कॉमर्स पोर्टलों के जरिये जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रहेगी.
  • जरूरी सेवाओं से जुड़े दिल्ली सरकार के कार्यालय में सभी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ काम करेंगे.
  • निजी कार्यालय 33 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर सकते हैं.
  • विवाह समारोह में 50 लोग जुट सकते हैं.