अमरावती: आंध्र प्रदेश के वनक्षेत्र में प्रसव पीड़ा के बाद बांस पर कपड़ा बांधकर बनाई गई “डोली” की मदद से अस्पताल ले जाई जा रही महिला ने सड़क पर ही बच्ची को जन्म दे दिया. खराब सड़क संपर्क मार्ग के कारण महिला को अस्पताल ले जाने के लिए “डोली” बनाई गई थी.

इस घटना का वीडियो गुरुवार को एक युवक ने सोशल मीडिया पर डाला. वीडियो विजयनगरम जिले के पार्वतीपुरम जनजातीय बेल्ट में सलूर मंडल में एक पहाड़ी की चोटी पर बसे दस गांवों में से एक की है, जिसमें दो लोग महिला को डोली में ले जाते दिख रहे हैं.

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का अखिलेश पर हमला, मुगल बादशाह औरंगजेब से की तुलना

महिला को डोली में लाने की जानकारी मिलते ही मैदानी इलाकों में एकीकृत जनजातीय विकास एजेंसी (आईटीडीए) के अधिकारियों ने एक मेडिकल टीम भेजी लेकिन महिला ने गुरुवार देर रात लड़की को जन्म दे दिया. आईटीडीए योजना की अधिकारी जी लक्षमिशा ने शुक्रवार को कहा, ‘‘जब तक हमारे कर्मचारी पहुंचते, महिला ने वहां मौजूद अन्य महिलाओं की मदद से बच्ची को जन्म दे दिया था. हमारी चिकित्सा टीम ने प्रसवोत्तर देखभाल के लिए आवश्यक चीजें प्रदान की. महिला और नवजात दोनों स्वस्थ हैं.’’ बच्ची महिला की पांचवी संतान है.

पायलटों ने एयर इंडिया का विमान मालदीव में गलत रनवे पर उतार दिया, बाल-बाल बचे 136 यात्री

सूत्रों ने बताया कि सरकार ने केंद्र की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाय) के तहत सड़क निर्माण के लिए 5.5 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं लेकिन जटिल इलाके के कारण किसी ठेकेदार ने बोली नहीं लगाई. आईटीडीए सड़क संपर्क से जुड़ी समस्याओं का निपटारा करती है और उसका कहना है कि वह सड़क निर्माण के लिए कदम उठा रही है. लक्षमिशा ने कहा, ‘‘कुछ सड़कों का काम निविदा चरण में है तो कुछ का स्वीकृति चरण में… प्रक्रिया जारी है.’’