नई दिल्ली: अधेड़ उम्र के एक दंपति की बेटी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने माता-पिता की गला घोंटकर हत्या कर दी और फिर दोनों शवों को सूटकेस में भरकर एक नहर के पास ठिकाने लगा दिया. युवती बाहरी दिल्ली के पश्चिम विहार इलाका स्थित अपने माता-पिता की संपत्ति अपने नाम कराना चाहती थी. पुलिस ने सोमवार को बताया कि इस संबंध में बाहरी दिल्ली के दीपक विहार की रहने वाली आरोपी देविंदर कौर (26) और लखनऊ के गोमती नगर एक्सटेंशन के रहने वाले प्रिंस दीक्षित को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. बता दें कि बीते दिनों तैरते हुए दो सूटकेसों से दो शव बरामद हुए थे.

दोनों ने दीपक विहार के निलोठी एक्सटेंशन में दंपति की संपत्ति हथियाने के लिये यह साजिश रची थी. पुलिस अधिकारियों को आठ मार्च को पश्चिम विहार में एक नहर में एक मैरून रंग के सूटकेस के तैरते दिखने की सूचना मिली थी और सूटकेस के अंदर शव होने की आशंका जताई गई थी. शुरुआती जांच में पुलिस ने खुलासा किया कि शव एक महिला का है. उसी के दूसरी ओर नौ मार्च को एक और सड़ा गला शव भी बरामद हुआ

पुलिस उपायुक्त (बाहरी) सेजू कुरुविल्ला ने बताया, पश्चिम विहार पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया. इस संबंध में जांच शुरू की गई. शव की पहचान जागीर कौर (47) के तौर पर हुई. जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि कौर के पति गुरमीत सिंह भी लापता हैं. पुलिस ने बताया कि जिस नहर से कौर का शव मिला था उसी के दूसरी ओर 9 मार्च को सिंह का सड़ा गला शव भी बरामद हुआ. सिंह का शव भी सूटकेस में भरा था.

डीसीपी ने बताया कि जगीर कौर की बेटी देविंदर कौर से जब पूछताछ की गई तो उसके बयान संदेहास्पद और विरोधाभासी लगे, जो परिस्थितियों से मेल नहीं खाते थे. इसके बाद पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी के फुटेज खंगाले और कई छापे मारे. आगे पूछताछ में देविंदर ने आखिरकार अपने ही माता-पिता की हत्या करने का जुर्म कबूल लिया.

देविंदर ने बताया कि उसने अपने पति को छोड़ दिया था और एक साल से प्रिंस दीक्षित के साथ रिश्ते में थी. पुलिस अधिकारी ने बताया कि देविंदर और दीक्षित दीपक विहार में निलोठी एक्सटेंशन स्थित दंपति की संपति हथियाना चाहते थे. लेकिन देविंदर के माता-पिता ने संपत्ति देविंदर के नाम करने से इनकार कर दिया था. इसलिए दोनों ने दंपति की हत्या करने और संपत्ति हथियाने की साजिश रची.