चेन्नई: तमिलनाडु में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ कोलम (रंगोली) बनाकर प्रदर्शन करने वाली एक महिला के बारे में चेन्नई पुलिस जांच कर रही है. महिला पर आरोप है कि उसका संबंध पाकिस्तान से है. चेन्नई के पुलिस आयुक्त ए.के. विश्वनाथन ने कहा, “गायत्री खंडदाई के फेसबुक प्रोफाइल के अनुसार वह ‘बाइट्स फॉर ऑल’ की शोधकर्ता हैं, जो एसोसिएशन ऑफ ऑल पाकिस्तान सिटिजन जर्नलिस्ट्स के साथ जुड़ा हुआ है.” विश्वनाथन ने कहा कि पुलिस उसके पाकिस्तान लिंक की जांच कर रही है.

पुलिस की अनुमति से इनकार करने के बाद रविवार को गायत्री समेत छह महिलाओं ने सीएए के खिलाफ एक इलाके में रंगोली बनाकर अपना विरोध जताया था. विश्वनाथन ने कहा कि पुलिस ने उन्हें रविवार को उस समय हिरासत में ले लिया, जब उन्होंने एक घर के बाहर रंगोली बनाई, जिस पर एक बुजुर्ग निवासी ने आपत्ति जताई, जिसके परिणामस्वरूप उनके बीच बहस भी हुई.

पुलिस ने उन्हें घर के मालिक की अनुमति के बिना रंगोली बनाने के आरोप में हिरासत में ले लिया. वहीं विश्वनाथन ने कहा कि किसी को रंगोली बनाने के लिए हिरासत में नहीं लिया गया था. इन छह महिलाओं ने बाद में द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) अध्यक्ष एम.के. स्टालिन से पार्टी मुख्यालय में मुलाकात की.

सोमवार को डीएमके अध्यक्ष एम.के. स्टालिन, उनकी बहन एवं सांसद कनिमोझी और उनके दिवंगत पिता एम. करुणानिधि के निवास के बाहर भी रंगोली बनाई गई थी, जिस पर लिखा था, “नो सीएए-एनआरसी.” सोमवार को ऐसी ही रंगोली तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के.एस. अलागिरि घर के बाहर भी दिखाई दी थी.

(इनपुट-आईएएनएस)