बर्दवान: पश्चिम बंगाल के आसनसोल से बीजेपी के सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने महिलाओं को अपनी रक्षा के लिए हिंदू देवी काली की तरह तलवार उठाने का सुझाव दिया है. बाबुल का मानना है कि महिलाओं को असामाजिक तत्वों से अपने आपको सुरक्षित रखने के लिए तलवार उठा लेनी चाहिए. पश्चिम बंगाल के पश्चिमी बर्दवान जिले में एक सभा को संबोधित करते हुए सुप्रियो ने कहा, ”मां काली के हाथ में भी तलवार या खड़ग होता था लेकिन क्या वो इसका इस्तेमाल करती थीं? आप महिलाओं को भी अपने हाथ में तलवार ले लेनी चाहिए, केवल हाथ में तलवार लेने से ही असामाजिक तत्व अपने आप आपसे दूर हो जाएंगे. आपको तलवार का इस्तेमाल करने की भी जरुरत नहीं पड़ेगी.”

रैली को संबोधित करते हुए सुप्रियो ने कहा कि इलाके के लोगों को अपने अधिकारों के लिए खुद लड़ना चाहिए और चाहे गुंडे-बदमाश उन्हें डराने की भी कोशिश करें तब भी लोगों को खुद को बचाने के लिए वोट करना चाहिए. सांसद सुप्रियो ने आगे कहा, ”अगर आप में से कुछ लोग भी अपने लिए वोट करेंगे तो आप लोग उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार समेत बाकी राज्यों जैसा विकास अपने यहां भी देखेंगे.” जब सुप्रियो से अपने बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, ”मैं किसी को भी भड़काने की कोशिश नहीं कर रहा हूं बल्कि मैं तो नारी शक्ति की बात कर रहा हूं.”

गायक से केंद्रीय मंत्री बने बाबुल सुप्रियो इन दिनों पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं. इससे पहले भी बाबुल सुप्रियो ऐसे बयान दे चुके हैं जिनपर विवाद हुआ था. कुछ दिनों पहले ही बाबुल ने पाकिस्‍तानी कलाकारों के बॉलीवुड में काम करने पर बैन लगाने की भी मांग की थी. बाबुल ने मांग की थी कि बॉलीवुड फिल्‍म ‘वेलकम टू न्‍यूयॉर्क’ में राहत फतेह अली खान के प्रस्‍तावित गाने को हटाया जाना चाहिए. उन्‍होंने कहा है कि वो गाना किसी भारतीय आर्टिस्‍ट की आवाज में रिकॉर्ड कराया जाना चाहिए.

सुप्रियो ने कहा था कि उन्हें राहत फतेह अली खान, आतिफ असलम या किसी अन्‍य पाकिस्‍तान कलाकार से कोई निजी समस्‍या नहीं है. उन्हें केवल उन लोगों की नागरिकता से परेशानी है. बाबुल ने कहा, ‘आतिफ या राहत से मुझे कोई समस्‍या नहीं है. ये कोई पॉलिटिकल स्‍टैंड नहीं है पर जिन परिवारों ने अपने बेटों, भाइयों और पिता को खोया है उन्‍हें इस कदम से बेहतर फील होगा.’