नई दिल्ली. दुनियाभर में बुधवार को विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) मनाया जा रहा है. इस मौके पर लोगों से अपने वातावरण को स्वच्छ रखने, धरती को बचाने और पेड़ों के संरक्षण की अपील की जा रही है. विश्व पर्यावरण दिवस के मद्देनजर भारत सरकार ने इस बार एक अनोखी मुहिम छेड़ी है. इसके तहत लोगों को पौधरोपण का संदेश दिया जा रहा है. 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर केन्द्र सरकार ने देशव्यापी स्तर पर पौधारोपण अभियान से लोगों को सेल्फी के माध्यम से जोड़ने की पहल की है. इधर, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी पर्यावरण दिवस को लेकर देशवासियों से अपनी धरती को स्वच्छ रखने और प्रकृति के साथ मानव के सामंजस्य को बनाए रखने की अपील की है.

केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बीते मंगलवार को बताया कि ‘‘सेल्फी विद सेपलिंग’’ नाम से शुरू की गई इस मुहिम के तहत देशवासियों से बुधवार को पर्यावरण दिवस के मौके पर एक पौधा लगाकर उसके साथ अपनी सेल्फी साझा करने की अपील की गई है. जावड़ेकर ने कहा कि सोशल मीडिया पर हैशटेग सेल्फी विद सेपलिंग के माध्यम से कोई भी व्यक्ति अपने लगाए पौधे के साथ ली गई सेल्फी को मंत्रालय को भेज सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे पूरा विश्वास है कि करोड़ों लोग पर्यावरण दिवस के मौके पर कोई न कोई पौधा लगाकर इस मुहिम का हिस्सा बनेंगे.’’

जावड़ेकर ने एक अध्ययन रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि प्रत्येक मनुष्य को पूरे जीवन में जितनी ऑक्सीजन की जरूरत होती है, उतनी ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए उसे कम से कम सात पेड़ लगाने की जरूरत होती है. उन्होंने लोगों से पांच जून को पहला पेड़ लगाकर इसकी शुरुआत करने की अपील की. पर्यावरण दिवस के मौके पर बुधवार को पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी कपिल देव और अभिनेता जैकी श्रॉफ इंदिरा पर्यावरण भवन में पौधारोपण कर इस अभियान का आगाज करेंगे.

जावड़ेकर ने कहा कि पूरी दुनिया में 92 प्रतिशत लोग सांस लेने के लिए साफ हवा से वंचित हैं. इसके मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र का इस साल वायु प्रदूषण नियंत्रण पर विशेष जोर है. उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम (एनसीएपी) चलाया जा रहा हैं. इसके तहत देश के प्रत्येक शहर के लिए हवा की गुणवत्ता बेहतर बनाने का समयबद्ध लक्ष्य तय किया गया है. इस कार्यक्रम के तहत उन 102 शहरों की पहचान हुई है जो इस लक्ष्य की प्राप्ति में पिछड़ रहे हैं. मंत्रालय इस पर्यावरण दिवस के मौके इन शहरों पर विशेष रूप से ध्यान केन्द्रित करेगा.

विश्व पर्यावरण दिवस को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देशवासियों से अपील की है कि वे अपनी भावी पीढ़ी के लिए आज से ही स्वच्छता और प्रकृति संरक्षण को लेकर जागरूक हों. राष्ट्रपति ने इस मौके पर जारी अपने संदेश में कहा है, ‘विश्व पर्यावरण दिवस पर हम अपनी प्रतिबद्धता दुहराते हैं कि पृथ्वी को स्वच्छतर और सतत बनाएंगे. प्रकृति के साथ सामंजस्य पूर्ण जीवन भारतीय संस्कृति की परंपरा है. भारत जलवायु परिवर्तन से निपटने और भावी पीढ़ियों को हरित, इको-फ्रेंडली पर्यावास देने के लिए वचनबद्ध हैं.’

(इनपुट – एजेंसी)