World Tourism Day 2019 : घूमक्कड़ी का शौक हर किसी के मन में पलता रहता है लेकिन निजी कामों की व्यस्तता के कारण अक्सर हम कहीं घूमने के लिए नहीं जा पाते हैं. आज वर्ल्ड टूरिज्म डे है और यह दिन पर्यटकों के लिए खास होता है. आज हम आपको भारत के कुछ ऐसे पर्यटन स्थलों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जाकर आप कम बजट में अच्छे से घूम सकते हैं. Also Read - World Tourism Day: घर पर रहकर हो गए हैं बोर और कोरोना काल में करना चाहते हैं ट्रेवलिंग, तो घूमते वक्त इन बातों का जरुर रखें ध्यान

स्टोक रंज, लद्दाख Also Read - World Tourism Day 2020: वर्ल्ड टूरिज्म डे आज, जानें आखिर क्यों मनाया जाता है विश्व पर्यटन दिवस

लद्दाख में 11,845 फीट की ऊंचाई पर स्टोक रेंज में ‘स्टोक कांगड़ी’ पर्वतारोहियों के बीच काफी लोकप्रिय पर्वत है. यह दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर में से एक है. एवरेस्ट पर्वत की चढ़ाई करने से पहले स्टोक रेंज पर चढ़ना एक प्रैक्टिस माना जाता है.

डलहौजी

अगर आपको पहाड़ पसंद है और पहाड़ों पर घूमना पसंद करते हैं तो हिमाचल प्रदेश स्थित डलहौजी आपको बेहत पसंद आएगा. यहां की हरियाली मानसून के मौसम में देखने लायक होती है. यहां का नजारा आपको इतना पसंद आएगा कि आप भी इस जगह के कायल हो जाएंगे. यहां पर आसपास भी कई जगहें घूमने लायक हैं.

माउंट आबू

राजस्थान का सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन है माउंट आबू. यहां का दिलवाड़ा मंदिर काफी मशहूर है. यहां आने के लिए आपकी जेब पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा. 2 रात 3 दिन तक ठहरने का किराया आपको तकरीबन 5,000 रुपये तक देना होगा.

मुन्नार के चाय बागान, केरल

12 हजार हेक्टेयर में फैले चाय के खूबसूरत बागान मुन्नार की खासियत है. साउथ इंडिया में अधिकतर चाय का निर्यात यहीं के बागानों से होता है. इसके साथ ही यहां वन्य जीवन को भी काफी करीब से देखा जा सकता है.

वैली औफ फ्लावर

वैली ऑफ फ्लावर उत्तराखंड में स्थित है. यह घूमने के लिहाज से बेस्ट औप्शन है. यहां आपको हर तरह के फूल मिल जाएंगे. वाइल्ड रोज, डालिया, सैक्सिफेज, गेंदा जैसे कई फूल यहां पाए जाते हैं. यहां पर कई फिल्मों की शूटिंग भी होती रहती है.

भारत का मिनी इंग्लैंड

वैल्लोर को दक्षिण भारत के सबसे पुराने शहरों में से एक है. यह शहर वेल्लोर किले के पास स्थित पलार नदी के किनारे पर बसा है. येलागिरि एक छोटा हिल स्टेशन है जो तमिलनाडु के वैल्लोर जिले में 29 किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है. औद्योगिक शहर होसूर बैंगलोर से 40 किमी दूर स्थित है. आजादी से पहले ब्रिटिश राज में होसूर को ‘मिनी इंग्लैंड’ कहा जाता था. यहां का मौसम सालभर सुहावना रहता है, यहां का वातावरण इंग्लैंड के जैसा ही है. होसूर के दो प्रमुख पर्यटन स्थल हैं राजाजी स्माइक और प्रत्यानगिरि मंदिर.