नई दिल्ली। मध्य प्रदेश में पुलिस कांस्टेबल की भर्ती के लिए आये युवाओं के सीने पर एससी-एसटी लिखने की घटना को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी-आरएसएस को निशाने पर लिया. राहुल ने इस घटना को संविधान पर हमला करार दिया और कहा कि भाजपा और आरएसएस की ‘दलित विरोधी सोच’ को उनकी पार्टी पराजित करेगी. Also Read - खेती को बर्बाद करने बनाए गए तीन कानून... मेरा चरित्र साफ, मैं डरने वाला नहीं: राहुल गांधी

राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘भाजपा सरकार के जातिवादी रवैये ने देश की छाती पर छुरा मारा है. एमपी के युवाओं के सीने पर एससी/एसटी लिखकर देश के संविधान पर हमला किया गया है.ये भाजपा/आरएसएस की सोच है. यही सोच कभी दलितों के गले में हांडी टंगवाती थी, शरीर में झाडू बंधवाती थी, मंदिर में घुसने नहीं देती थी. हम इस सोच को हराएंगे. Also Read - राहुल गांधी ने कृषि कानूनों के खिलाफ 'खेती का खून' नाम की बुकलेट जारी की, कहा- मैं PM Modi और बीजेपी से नहीं डरता

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भीइस मुद्दे पर ट्वीट किया, भाजपा सरकारें दलितों/आदिवासियों के दमन के नित नए आयाम बनाती हैं, देश में एससी/एसटी क़ानून ख़त्म करवाती हैं, यूपी में ग़रीबों को साबुन से नहलाने, इत्र छिड़कवाने का काम करती हैं, मध्य प्रदेश में नौकरी की भर्तियों के लिए आए युवकों के सीने पर एससी/एसटी लिखवाती हैं.

बता दें कि मध्य प्रदेश के धार जिले में पिछले दिनों आरक्षकों की भर्ती अभियान के दौरान कैंडिडेट्स का स्वास्थ्य परीक्षण चल रहा था. उम्मीदवारों की पहचान के लिए जिला अस्पताल ने अजीब तरीका अपनाया. आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों के सीने पर ही उनका वर्ग दर्ज कर दिया गया. किसी के सीने पर एससी लिखा हुआ था तो किसी के सीने पर एसटी. इसी मामले ने बाद में तूल पकड़ लिया.

(भाषा इनपुट)