सुबह फांसी होने के बाद याकूब मेनन के शव को उसके दोनी भाई, जो कल रात से नागपुर के सेंट्रल जेल के पास ही होटल में रुके हुए थे उन्हें सौंपने की प्रक्रिया की शुरुआत कर दी गई है। हालांकि अभी तक ये तय नहीं हो पाया है कि शव को कहाँ दफ़न किया जाएगा। ये फैसला उनके परिवार पर छोड़ा गया है कि वह शव को कहाँ दफनाना चाहते हैं। Also Read - Sharbari Dutta Dies: फैशन डिजाइनर शरबरी दत्ता का निधन, बाथरूम में मिली लाश

वैसे मुंबई के बड़ा कब्रिस्तान में सारी तैयारियां हो चुकी हैं।  साथ ही वहा पुलिस ने कड़ी सुरक्षा की है, जिससे दफ़नाने की प्रक्रिया के दौरान कोई परेशानी ना हो। हालांकि कोर्ट ने अंतिम यात्रा निकालने की मनाही कर दी है, इसलिए शव को एम्बुलेंस के द्वारा कब्रिस्तान पहुँचाया जाएगा।  परिवार के सामने दो विकल्प रखे गए हैं, एक महिम कब्रिस्तान और एक मरीन लाइन पर स्थित बड़ा कब्रिस्तान। Also Read - क्रेन दुर्घटना में मारे गए पीड़ित के अंतिम संस्कार में जाते वक्त हुआ सड़क हादसा, 3 लोगों की मौत

याकूब महिम का रहनेवाला था, जहाँ वह परिवार के साथ रहा करता था। शव को सबसे पहले महिम स्थित उसी घर में ले जाया जाएगा। वहीँ से उसके शव को दफ़नाने के लिए रवाना किया जाएगा। Also Read - LAC पर हिंसक झड़प में चीनी सेना के 43 जवान गंभीर रूप से घायल, कई सैनिकों की मौत