बेंगलुरु: कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार के बीच आ रही खटपट की खबरों के बीच कर्नाटक बीजेपी अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने दावा किया है कि कांग्रेस और जेडीएस के बहुत सारे विधायक उनके संपर्क में हैं और बीजेपी में शामिल होना चाहते हैं. बीजेपी की स्टेट एग्जिक्यूटिव मीटिंग में बोलते हुए येदियुरप्पा ने कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को अपवित्र बताया और कहा कि 5 जुलाई को पेश होने वाला बजट, आधा बजट है. Also Read - Coronavirus Cases In Karnataka: कोरोना की चपेट में कर्नाटक, एक्टिव मामलों की संख्या दिल्ली से अधिक

येदियुरप्पा ने अपनी पार्टी के लोगों से कहा कि वे 2019 के आम चुनाव में राज्य की 28 लोकसभा सीटों में 25 पर भाजपा की जीत सुनिश्चित करने की दिशा में काम करें. उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस और जेडीएस के कई नेता मौजूदा राजनीतिक स्थिति में भाजपा में शामिल होने को तैयार हैं. मैं नेताओं से अपील करता हूं कि वे ईमानदार और सक्षम लोगों को लाकर पार्टी को मजबूत करने की दिशा में काम करें.’’ Also Read - आज खत्म हो रहा सोनिया गांधी का कार्यकाल, अब कौन बनेगा कांग्रेस अध्यक्ष? पार्टी ने बताया आगे का प्लान

येदियुरप्पा ने कहा, ‘‘जो लोग भाजपा में आने को तैयार हैं, हमें उन तक उनके घरों तक व्यक्तिगत रूप से जाना होगा और उन्हें पार्टी में लाने तथा लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी को मजबूत करने के लिए उनसे बात करनी होगी.’’ Also Read - जम्मू-कश्मीर में नेताओं पर बढ़े हमले पाकिस्तान की हताशा: भाजपा

इससे पहले जब कैबिनेट विस्तार के बाद कांग्रेस और जेडीएस, दोनों में व्यापक असंतोष था तब येदियुरप्पा ने दावा किया था कि सत्तारूढ़ गठबंधन के कई नेता उनकी पार्टी में शामिल होने को इच्छुक हैं. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मिलने के लिए येदियुरप्पा की हालिया अहमदाबाद यात्रा के बाद ये अटकलें लगाई जा रही थी कि कांग्रेस के कई असंतुष्ट विधायक उनके संपर्क में हैं और पाला बदलने के लिए तैयार हैं जिससे भाजपा राज्य में एक बार फिर सरकार बनाने की कोशिश कर सकती है.

हालांकि, येदियुरप्पा ने यह कहते हुए इन अटकलों पर विराम लगाने की कोशिश की थी कि वह शाह को पार्टी की राज्य कार्यकारिणी की बैठक के लिए आमंत्रित करने वहां गए थे. उन्होंने पिछले महीने विधानसभा में विश्वासमत का सामना किए बगैर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था क्योंकि भाजपा बहुमत जुटाने में विफल रही थी.

इस साल मई में राज्य में हुए विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा की राज्य कार्यकारिणी की पहली बैठक हुई. इसमें पार्टी महासचिव मुरलीधर राव, केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार, रमेश जिगाजिनगी और पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार सहित अन्य नेता शामिल हुए.

(इनपुट: एजेंसी)