नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यस बैंक के सह-प्रवर्तक राणा कपूर का लंदन में 127 करोड़ रुपए मूल्य का फ्लैट कुर्क किया है. ईडी ने शुक्रवार को कहा कि कपूर और अन्य के खिलाफ मनी लॉड्रिंग जांच के सिलसिले में फ्लैट कुर्क किया गया है. Also Read - लंदन की अदालत में नीरव मोदी की जमानत याचिका लगातार सातवीं बार खारिज : सीबीआई

केंद्रीय जांच एजेंसी ने मनी लांड्रिंग निरोधक कानून (पीएमएलए) के तहत 77 साऊथ आडले स्ट्रीट स्थित अर्पाटमेंट- 1 की कुर्की के लिए अस्थायी आदेश जारी किया है. बता दें कि इससे पहले, ईडी पीएमएलए के तहत अन्य जांच मामलों में अमेरिका, दुबई और ऑस्ट्रेलिया में इसी तरीके से संपत्ति कुर्क कर चुकी है. Also Read - फारूक अब्दुल्ला को दूसरी बार ED का समन, नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कहा- आवाज दबाने की कोशिश

ईडी ने एक बयान में कहा, ”फ्लैट का बाजार मूल्य 1.35 करोड़ पौंड (करीब 127 करोड़ रुपए) है. राणा कपूर ने 2017 में डीओआईटी क्रिएशंस जर्सी लि. के नाम पर 99 लाख पौंड (करीब 93 करोड़ रुपए) में यह फ्लैट खरीदा था. वह खुद फ्लैट का मालिक है. Also Read - दाऊद इब्राहिम के करीबी इकबाल मिर्ची और उसके परिवार से जुड़ी 22 करोड़ की संपत्ति ED ने जब्त की

जांच एजेंसी के अनुसार उसे भरोसेमंद सूत्र से यह जानकारी मिली थी कि कपूर लंदन के फ्लैट को बेचना चाहते है और उन्होंने एक प्रतिष्ठित संपत्ति परामर्शदाता को इसके लिए रखा था. ईडी के अनुसार, ”दूसरे स्रोतों से पूछताछ से पता चला कि संपत्ति कई वेबससाइट पर बिक्री के लिए रखी गयी थी.”

प्रक्रिया के तहत एजेंसी कुर्की आदेश के क्रियान्वयन को लेकर अब ब्रिटेन की समकक्ष जांच इकाई से संपर्क करेगी और ऐलान करेगी कि संपत्ति खरीदी या बेची नहीं जा सकती, क्योंकि इसे पीएमएलए की आपराधिक धाराओं के तहत जब्त किया गया है.

प्रवर्तन निदेशालय ने सीबीआई की प्राथमिकी को देखने के बाद कपूर, उनके परिवार के अन्य सदस्यों और अन्य के खिलाफ पीएमएलए के तहत मामला दर्ज किया था. सीबीआई की प्राथमिकी में यह आरोप लगाया गया था कि यस बैंक ने नियमों का उल्लंघन कर करोड़ों रुपए के संदिग्ध कर्ज विभिन्न इकाइयों को दिए और बदले में कथित रूप से रिश्वत कपूर परिवार को दिए गए.