नई दिल्लीः संकटग्रस्त यस बैंक ने मंगलवार को कहा कि उसके ग्राहक अपने क्रेडिट कार्ड और ऋणों का भुगतान अन्य बैंक खातों के माध्यम से कर सकते हैं. इससे पहले नकदी संकट के चलते रिजर्व बैंक ने उसके कामकाज पर रोक लगा दी थी. Also Read - Coronavirus: EMI भुगतान के SMS से कर्जदारों में तीन महीने की मोहलत को लेकर भ्रम

बैंक के कामकाज पर रोक के बाद एटीएम और बैंक की शाखाओं के सामने पैसे निकालने के लिए लंबी-लंबी कतारें देखी गईं. ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग और डिजिटल भुगतान जैसे अन्य प्लेटफार्म के जरिए भी पैसे नहीं निकाल पा रहे थे. इसके अलावा विदेशी मुद्रा सेवाएं और क्रेडिट कार्ड सेवाएं भी प्रभावित हुईं. Also Read - कोरोना का कहर, सरकार और RBI के प्रोत्साहन के बावजूद झेलनी पड़ी आर्थिक गिरावट

यस बैंक ने ट्वीट किया है, “आईएमपीएस/एनईएफटी सेवाएं अब बहाल हो गई हैं.” बैंक ने कहा, “आप दूसरे बैंक खातों से यस बैंक के क्रेडिट कार्य बकाए और रिण देनदारियों का भुगतान कर सकते हैं.” बैंक ने कहा है कि उसके एटीएम भी पूरी तरह काम कर रहे हैं और ग्राहक निर्धारित राशि निकाल सकते हैं.

गौरतलब है कि गुरुवार को भारतीय रिजर्व बैंक ने येस बैंक पर रोक लगाते हुए निकासी की सीमा 50,000 रुपए तय की गई है. बैंक के ग्राहकों के लिए अपना पैसा निकालने की सीमा 50,000 रुपए तय की गई है. निजी क्षेत्र का बैंक काफी समय से बढ़ते डूबे कर्ज की समस्या जूझ रहा था.