Ministry of AYUSH and Ministry of Youth Affairs and Sports have announced formal recognition of Yogasana as a competitive sport: खेल मंत्रालय Youth Affairs and Sports Ministry और आयुष मंत्रालय (AYUSH Ministry) ने गुरुवार को योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में औपचारिक तौर पर मान्यता दे दी है, जिससे इसे सरकारी सहायता मिल सकेगी.Also Read - Yoga For Dark Circles: बढ़ने लगे हैं आंखों के नीचे डार्क सर्कल? रोजाना करें ये 4 योगासन, जल्द मिल जाएगा छुटकारा

खेल मंत्री किरेन रीजीजू और आयुष (आयुर्वेद, योग , नैचुरोपैथी, यूनानी, सिद्ध, होम्योपैथी) मंत्री श्रीपाद येस्सो नाईक ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान योगासन को प्रतिस्पर्धी खेल के रूप में मान्यता दी. Also Read - Yogasana For Belly Fat: इनमें से कर लें कोई भी एक योग, कुछ ही दिनों में कम हो जाएगा लटकता हुआ बैली फैट

Also Read - Yoga For PCOD And PCOS: दवाई नहीं इन 3 योगासनों से दूर करें पीसीओडी और पीसीओएस की समस्या, जड़ से खत्म हो जाएगी ये बीमारी

खेल मंत्री रीजीजू ने कहा, ”योगासन लंबे समय से प्रतिस्पर्धी खेल है, लेकिन इसे भारत सरकार से मान्यता मिलने की जरूरत थी ताकि यह आधिकारिक और मान्य प्रतिस्पर्धी खेल बन सके.” उन्होंने कहा, ”आज बड़ा दिन है और हम इसे प्रतिस्पर्धी खेल के तौर पर औपचारिक रूप से लांच कर रहे हैं.”

पिछले साल योग गुरू बाबा रामदेव की अध्यक्षता में अंतरराष्ट्रीय योगासन खेल महासंघ का भी गठन किया गया था. डॉक्टर एचआर नागेंद्र इसके महासचिव हैं. भारतीय राष्ट्रीय योगासन खेल महासंघ का भी गठन किया गया, जिसे पिछले महीने खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय खेल महासंघ के तौर पर मान्यता दी.