बेंगलुरू: कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार करने पहुंचे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. यूपी में आए आंधी तूफान से लगभग 100 लोगों की मौत के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ के प्रदेश में ना होने पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दारमैया ने उनकी आलोचना भी की थी. लोग भी सोशल मीडिया पर योगी आदित्यनाथ की इस बात के लिए आलोचना कर रहे हैं कि जिस वक्त उन्हें यूपी में होना चाहिए था उस वक्त वो कर्नाटक में चुनाव प्रचार कर रहे हैं.

अब सीएम योगी ने अपना चुनाव प्रचार बीच में ही छोड़कर कर्नाटक से यूपी वापस जाने का फैसला किया है. जानकारी के मुताबिक, सीएम योगी शुक्रवार रात को ही कर्नाटक छोड़कर आगरा पहुंचने वाले हैं और वहां राहत कार्यों का जायजा लेंगे. आगरा के बाद वो कानपुर भी जाएंगे और आंधी तूफान में जान गंवाने वाले लोगों के परिवार से मिलेंगे. 

अपने ऊपर हो रहे चौतरफा हमलों पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी अपने बचाव में सफाई दी है. सीएम योगी ने कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए कहा, ‘सिद्धारमैया झूठ बोलने में बहुत माहिर हैं. धूल भरी आंधी और भारी बारिश से प्रभावित इलाकों में चल रहे राहत कार्यों की मैं व्यक्तिगत रूप से मॉनिटरिंग कर रहा हूं, मैं कल ही प्रभावित इलाकों में जाऊंगा.’

समाजवादी पार्टी प्रमुख और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ के कर्नाटक में होने पर निशाना साधा है. अखिलेश ने कहा कि योगी आदित्यनाथ को यूपी की जनता ने चुना है यूपी में काम करने के लिए नाकि कर्नाटक में चुनाव प्रचार करने के लिए और ऐसे समय में जब प्रदेश में आंधी तूफान से इतने सारे लोगों की जान चली गई है ऐसे में प्रदेश के सीएम को यहां होना चाहिए ना कि कर्नाटक में.

सीएम योगी के कर्नाटक में होने पर अखिलेश ने अपने ट्वीट में कहा, ”CM को कर्नाटक का चुनाव प्रचार छोड़कर तुरंत यूपी वापस आना चाहिए था. जनता ने उन्हें अपने प्रदेश की समस्याओं के समाधान के लिए चुना है, ना कि कर्नाटक की राजनीति के लिए. इन हालातों में भी अगर वो वापस नहीं आते हैं, तो फिर वो हमेशा के लिए अपना मठ वहीं बना लें.”