लखनऊ. ‘विश्व धरोहर’ ताज महल को लेकर उठे विवाद के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को इस ऐतिहासिक इमारत को देखने के लिये आगरा में हैं. निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक मुख्यमंत्री ताज महल में करीब 30 मिनट गुजारेंगे. इससे पहले वह पास के ही शाहजहां पार्क का भ्रमण भी करेंगे. योगी ताज महल के पश्चिमी द्वार के पास 500 बीजेपी कार्यकर्ताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ वृहद स्वच्छता अभियान शुरू करेंगे. 

योगी के दौरे से पहले ताजमहल में शिव चालीसा का पाठ, CISF ने माफीनामा लिखवाकर छोड़ा

योगी के दौरे से पहले ताजमहल में शिव चालीसा का पाठ, CISF ने माफीनामा लिखवाकर छोड़ा

पर्यटन विभाग के प्रमुख सचिव अवनीश अवस्थी ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ताज महल के अंदर के सभी स्थानों का भ्रमण करेंगे. योगी बीजेपी के ऐसे पहले मुख्यमंत्री होंगे, जो ताज महल का भ्रमण करेंगे. वह ताज महल से आगरा किले के बीच पर्यटक मार्ग की आधारशिला भी रखेंगे. अवस्थी ने बताया कि राज्य सरकार पहले ही घोषणा कर चुकी है कि वह ताज नगरी में पर्यटन को बढ़ावा देने के मकसद से विकास योजनाओं पर 370 करोड़ रुपये खर्च करेगी.

योगी का यह दौरा इसलिये काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि ताज महल अनेक विवादास्पद बयानों और परिघटनाओं की वजह से चर्चा में है. सबसे पहले पर्यटन विभाग की पुस्तिका में ताज महल को शामिल नहीं किये जाने को लेकर विवाद उठा था. उसके बाद बीजेपी विधायक संगीत सोम ने इस इमारत को भारतीय संस्कृति पर ‘धब्बा’ बताते हुए नया विवाद पैदा कर दिया था. बीजेपी के ही राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने इसे ‘तेजो महालय’ करार देते हुए इस विवाद को और हवा दे दी थी.

इस विवाद के बीच, गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी ने ताज महल को भारतीयों के ‘खून पसीने’ से बनी इमारत बताते हुए इसे विश्वस्तरीय करार दिया था.

(भाषा से प्राप्त जानकारी के साथ)