नई दिल्ली: कश्मीर के गुलमर्ग से पिछले दिनों लापता हुए सेना के जवान राजेंद्र सिंह नेगी का पता लगाने के लिए सरकार पर दबाव बनाने के मकसद से एक ऑनलाइन याचिका आरंभ की गई है. युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रभारी (सोशल मीडिया) वैभव वालिया ने यह ऑनलाइन याचिका शुरू की है और इसी संदर्भ में उन्होंने अपने कुछ साथियों के साथ शुक्रवार को पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी से मुलाकात भी की.

वालिया ने इस याचिका में कहा है कि उत्तराखंड के चमोली के निवासी गढ़वाल राइफल्स के सैन्य जवान राजेंद्र सिंह नेगी कश्मीर के गुलमर्ग में बहुत दिनों से कार्यरत थे. 8 जनवरी को भारी भर्फ़बारी के बीच जब वो गश्त के लिए गए तो लौट कर वापस ही नही आए. ऐसा अंदेशा है कि वे बॉर्डर के करीब गश्त करते समय फिसल कर बॉर्डर पार पाकिस्तान चले गए. उन्होंने कहा कि बड़े दुर्भाग्य की बात है रक्षा मंत्रालय इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है. परिवार के लोग परेशान हैं. लेकिन अभी तक सरकार ने इस ओर कोई कदम नही उठाया है.

अप्रिय हादसा होने की आंशका
उन्होंने कहा कि अगर समय रहते सरकार ने इस संबंध में पाकिस्तान के उच्च अधिकारियों से सम्पर्क नही किया तो कोई अप्रिय हादसा होने की आंशका है. उन्होंने लोगों से अपील की है कि लोग इस ऑनलाइन याचिका पर हस्ताक्षर करें ताकि सरकार पर कदम उठाने के लिए दबाव बनाया जा सके.