नई दिल्ली/जयपुर. अभी तक जम्मू-कश्मीर में सक्रिय रहे आंतकी जाकिर मूसा के श्रीगंगानागर में देखे जाने की सूचना है. इस खुफिया रिपोर्ट्स पुलिस अलर्ट हो गई है. सीमावर्ती इलाके पर व्यापक सुरक्षा व्यवस्था तैनात की गई है और चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है.सभी थानों को प्रशासन की तरफ से कड़ी चौकसी के निर्देश दिए गए हैं.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, विशेष एजेंसियों की तरफ से ये इनपुट मिला है कि जाकिर मूसा राजस्थान में छुपा हुआ है. विधानसभा चुनावों से पहले भी ऐसे ही खुफिया जानकारी सामने आई थी. दोनों ही राज्यों की पुलिस लगातार एक-दूसरे के संपर्क में है.

पंजाब में भी देखा गया था
बता दें कि इससे पहले उसे पंजाब में देखे जाने की बात सामने आ रही थी. उसे बठिंडा और फिरोजपुर के जिले में देखा गया था. इसके बाद से पंजाब में सुरक्षा बढ़ा दी गई है और हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया था. खुफिया रिपोर्ट में बताया गया था कि मूसा पगड़ी पहने छिपा हो सकता है. पुलिस की विशेष टीम मूसा की तलाश में लगी हुई थी और जगह-जगह वॉन्टेड की तस्वीरें लगाए गए थे.

टैक्सी को कर लिये हैं हाईजैक
बता दें कि पिछले महीने पंजाब में एक टैक्सी को संदिग्ध आतंकियों द्वारा हाईजैक किए जाने की सूचना पर हड़कंप मचा था. पुलिस के शीर्ष अधिकारी ने पूरे महकमे को अलर्ट कर दिया था और सघन तलाशी अभियान चलाया जा रहा था. पुलिस-प्रशासन ने आतंकी हमले का अलर्ट जारी कर दिया है.

माधोपुर में हुई थी घटना
4 संदिग्ध आतंकियों ने जम्मू से एक टोयोटो इनोवा टैक्सी को किराए पर लिया था. उनकी बात पठानकोट जाने तक की हुई थी. टैक्सी पंजाब के माधोपुर पहुंची थी कि उन्होंने ड्राइवर को बंदूक दिखाकर टैक्सी छीन लिया. इसकी सूचना पाते ही पुलिस अलर्ट हो गई है. पंजाब पुलिस ने इसे लेकर दिल्ली पुलिस को भी अलर्ट कर दिया है और आतंकी वारदात की आशंका जताई है.

तीन राज्यों में अलर्ट
इसके साथ ही पंजाब, जम्मू-कश्मीर और दिल्ली तीनों राज्यों की पुलिस अलर्ट पर है. पंजाब पुलिस पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रही है और संदिग्धों को पकड़ने की कोशिश में लगी है. बता दें कि साल 2016 में पठानकोट एयरबेस पर हमला हुआ था. चूंकि ये टैक्सी भी पठानकोट के लिए ही निकली थी, इसलिए इसे भी लेकर पुलिस-प्रशासन अलर्ट हो गया है. पठानकोट हमले में 7 लोग मारे गए थे. जांच में इसमें पाकिस्ता के शामिल होने के सबूत मिले थे. इसके बाद से ही भारत पाकिस्तान समर्थित आतंकियों पर कार्रवाई के लिए उसपर एक बार फिर दबाव बनाना शूर कर दिया था.