नई दिल्ली। जी मीडिया के इंडिया कॉन्क्लेव में आज दिग्गज नेताओं का जमावड़ा लगा. जम्मू कश्मीर के पूर्व सीएम फारुक अब्दुल्ला ने भी इसमें शिरकत कर भारत-पाक रिश्ते और कश्मीर पर खुलकर अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि आज राजनीति की वजह से लोगों को बांटा जा रहा है. अब्दुल्ला ने भारत-पाक के बीच बातचीत की भी वकालत की.

उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा. कश्मीर मुद्दा हल होगा तभी शांति आएगी, भारत-पाक बात करेंगे तभी घुसपैठ रुकेगी. मुझे उम्मीद है कि एक दिन भारत पाकिस्तान के रिश्ते अच्छे होंगे. पत्थरबाजी की घटनाओं पर उन्होंने कहा कि पत्थरबाजों को रोकने की ताकत मेरे पास नहीं. हमें हर धर्मों को जोड़ने की बात करनी है. 

Zee India conclave: अखिलेश बोले- बीजेपी का धन्यवाद, बीएसपी को साथ ला दिया

Zee India conclave: अखिलेश बोले- बीजेपी का धन्यवाद, बीएसपी को साथ ला दिया

फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि हर मसला हल हो सकता है. कश्मीर का जो हिस्सा हमने लिया था उसे वापस भी करना पड़ा. पीओके को हम वापस नहीं ले सकते. एक सवाल के जवाब में फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि मैं पाकिस्तान नहीं जाना चाहता.

फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि राजनीति की वजह से लोगों को बांटा जा रहा है. उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों को वापस लाया जाएगा. मौका मिला तो कश्मीरी पंडितों को वापस लाऊंगा. मुसलमान समझते हैं कि मैं हिंदू हूं. जियो और जीने दो ही मेरा मंत्र है, मैंने कश्मीरी पंडितों को वापस लाने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि मुसलमान समझते हैं कि मैं हिंदू हूं और हिंदू समझते हैं कि मैं मुसलमान हूं.