पटना: बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने सोमवार को कहा कि केंद्र और राज्य की ‘डबल इंजन’ वाली सरकार नफरत, भेदभाव फैलाने वाली सरकार है. राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राजद जनता की आशा और आकांक्षाएं पूरी करने के लिए केंद्र और राज्य की भ्रष्टाचार, नफरत, भेदभाव को बढ़ावा देने वाली अहंकारी सरकार की नीतियों के खिलाफ सड़क से सांसद तक लड़ाई लड़ेगा. तेजस्वी ने कहा कि राजद गरीब और अभिवंचित वर्गो को न केवल सामाजिक न्याय दिलाएगा, बल्कि डबल इंजन वाली सरकार को उखाड़ फेंकेगा.

पीएम मोदी का कांग्रेस पर गंभीर आरोप, कहा-दशकों तक इस पार्टी ने अस्थिरता और नक्सलवाद को दिया है बढ़ावा

उन्होंने आरोप लगाया, “केंद्र सरकार सामाजिक तानेबाने को बिगाड़ रही है, नफरत को बढ़ावा दे रही है. अपराध की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं. आए दिन राज्य में अपराधिक घटनाएं बढ़ी हैं. हत्या, दुष्कर्म, जिंदा जलाने, लूट, चोरी, डकैती की घटना आम हो गई हैं.” तेजस्वी ने कहा, “मैंने मुख्यमंत्री को परामर्श दिया था कि हरियाली यात्रा के पहले अपराध और बेरोजगारी दूर करने के लिए यात्रा करते तो इसका लाभ जनता को मिलता. बिहार बेरोजगारों का केंद्र बन गया है.”

जेपी नड्डा का कांग्रेस पर आरोप, कहा- वोट बैंक के लिए किया तीन तलाक का विरोध

राजद के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि बैठक में 10 विषयों पर प्रस्ताव पारित किए गए और उन पर गहन चर्चा हुई. मंगलवार को राजद का खुला अधिवेशन होगा. इन प्रस्तावों पर आम लोगों की भी स्वीकृति ली जाएगी. राजद अपने इन प्रस्तावों को अपनी नीति बनाएगा और सख्ती से अपनी नीति पर अमल कर सामाजिक न्याय की लड़ाई लड़ेगा. बैठक की अध्यक्षता राजद उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने किया. बैठक में पार्टी नेता कमरे आलम, रामचंद्र पूर्वे, चितरंजन गगन, शिवानंद तिवारी, आलोक कुमार मेहता, उदयनारायण चौधरी, प्रोफेसर चंद्रशेखर, भाई वीरेंद्र और मृत्युंजय तिवारी सहित कई नेताओं ने भाग लिया.