संयुक्त राष्ट्र: भारत (India)ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGC) में पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के कश्मीर मुद्दे का राग अलापने पर पलटवार करते कड़ा जवाब दिया है. भारत ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के कश्‍मीर में धारा 370 को हटाने और पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी को शहीद बताने के जवाब में कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जहां आतंकवादी बेरोक टोक आ जा सकते हैं. भारत ने कहा कि पाकिस्तान ”आग लगाने वाला है, जबकि खुद को आग बुझाने वाले” के रूप में पेश करने का दिखावा करता है और पूरी दुनिया को उसकी नीतियों के कारण तकलीफ उठानी पड़ी है, क्योंकि वह आतंकवादियों को पालता है.Also Read - भारत-पाकिस्तान मैच के बाद खिलाड़ियों के भाईचारे से प्रभावित हैं मैथ्यू हेडन

संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में शुक्रवार को कहा, ”पाकिस्तान के नेता द्वारा भारत के आंतरिक मामलों को विश्व मंच पर लाने और झूठ फैलाकर इस प्रतिष्ठित मंच की छवि खराब करने के एक और प्रयास के प्रत्युत्तर में हम अपने जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं.” Also Read - Konkan Shakti 2021: भारत और ब्रिटेन की सेनाओं का अरब सागर में जबरदस्त युद्धाभ्यास, देखकर दंग रह जाएंगे आप

Also Read - भारत को 10 विकेट से हरा टी20 विश्व कप जीतने का प्रबल दावेदार बन गया है पाकिस्तान: विलियमसन

युवा भारतीय राजनयिक ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में एक बार फिर कश्मीर का राग अलापने पर पाकिस्तान की निंदा करते हुए कहा, ”इस तरह के बयान देने वालों और झूठ बोलने वालों की सामूहिक तौर पर निंदा की जानी चाहिए. लगातार झूठ बोलने वाले और ऐसी सोच वाले लोग दया के पात्र हैं. मैं इस मंच से स्पष्ट बात रख रही हूं.”

यूएन में भारत की सचिव ने कहा, सदस्य देश जानते हैं कि पाकिस्तान ने आतंकवादियों को पनाह देने, सहायता करने और सक्रिय रूप से समर्थन करने का इतिहास और नीति स्थापित की है. यह एक ऐसा देश है, जिसे राज्य की नीति के रूप में खुले तौर पर समर्थन, प्रशिक्षण, वित्तपोषण और आतंकवादियों को हथियार देने के रूप में मान्यता प्राप्त है.

प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने कहा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के संपूर्ण केंद्र शासित प्रदेश भारत के अभिन्न और अविभाज्य अंग थे, हैं और रहेंगे. इसमें वे क्षेत्र शामिल हैं जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे में हैं. हम पाकिस्तान से उसके अवैध कब्जे वाले सभी क्षेत्रों को तुरंत खाली करने करने के लिए कहते हैं.

यूएन में भारत की प्रथम सचिव दुबे ने कहा, ”हम सुनते आ रहे हैं कि पाकिस्तान ‘आतंकवाद का शिकार’है. यह वह देश है, जिसने खुद आग लगाई है और खुद को आग बुझाने वाले के रूप में पेश करता है. पाकिस्तान आतंकवादियों को इस उम्मीद में पालता है कि वे केवल पड़ोसियों को नुकसान पहुंचाएंगे. क्षेत्र और वास्तव में पूरी दुनिया को उनकी नीतियों के कारण नुकसान उठाना पड़ा है. दूसरी ओर, वे अपने देश में सांप्रदायिक हिंसा को आतंकवादी कृत्यों की आड़ में छिपाने की कोशिश कर रहे हैं.

इमरान खान ने अपने संबोधन में पांच अगस्त, 2019 को अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के भारत सरकार के फैसले और पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के निधन के बारे में बात की.