श्रीनगर: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को यहां सेन्‍ट्रल जेल पर छापा मारा. इस दौरान जेल में दो दर्जन से अधिक मोबाइल फोन, जेहादी साहित्य, पाकिस्‍तानी झंडा और डाटा हार्डवेयर जब्त किया. एनआईए की लगभग 20 टीमों ने इस उच्च सुरक्षा वाली जेल के बैरकों एवं खुली जगहों की तलाशी ली. इन टीमों की मदद के लिए एनएसजी के कमांडो एवं ड्रोन भी लगाए गए थे. जेल में कुछ अतिवांछित और दुर्दांत आतंकवादी भी हैं. उनमें कुछ पाकिस्तान के भी हैं. एनआईए श्रीनगर के एक अस्पताल से 6 फरवरी को लश्कर- ए- तैयबा के आतंकवादी मोहम्मद नावेद झट्ट के भाग जाने की भी जांच कर रही है. आधिकारिक प्रवक्ता के मुताबि‍क , एनआईए की टीमों के साथ मजिस्ट्रेट, गवाह और डॉक्टर भी थे.

जेल में बना युवकों को आंतकी बनाने का प्‍लान
प्रवक्ता ने बताया कि कुपवाड़ा में दो युवकों दानिश गुलाम लोन और सुहैल अहमद भट की गिरफ्तारी की जांच के सिलसिले में जेल परिसर की तलाशी की गई. इन दोनों युवकों ने दावा किया था कि प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन अल बद्र के नए रंगरुटों को हथियारों के प्रशिक्षण के लिए भेजा जा रहा है, जिसकी पूरी साजिश श्रीनगर के केंद्रीय कारागार में रची गई. तलाशी सोमवार सुबह शुरू हुई और दोपहर तक चली. उस दौरान सभी बैरकों और खुली जगहों की सुप्रशिक्षित टीमों ने सघन तलाशी ली. इस काम में मेटल डिटेक्टरों की भी मदद ली गई.

पाकिस्‍तानी झंडे, 25 मोबाइल समेत मिली जेहादी
प्रवक्ता के अनुसार तलाशी के दौरान 25 मोबाइल फोन, कुछ सिमकार्ड, पांच सुरक्षित डिजिटल कार्ड, पांच पेन ड्राइव, एक आईपॉड अैर बड़ी संख्या में दस्तावेज एवं हिज्बुल मुजाहिदीन के पोस्टर, पाकिस्तानी झंडे, जिहादी साहित्य जैसी कई चीजें जब्त की गई. (इनपुट- एजेंसी.)