रांची: झारखंड सरकार ने पान मसालों के विभिन्न ब्रांडों की जांच में मैग्नीशियम कार्बोनेट पाये जाने के बाद राज्य में पान मसालों के 11 ब्रांड के उत्पादन, भंडारण और बिक्री पर 12 महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया है. Also Read - लेह से रांची पहुंचे 60 प्रवासी मजदूर, मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने हवाई अड्डे पर किया स्वागत

आधिकारिक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्य सचिव सुखदेव सिंह की अध्यक्षता में हुई उच्चस्तरीय बैठक में दिए गए निर्देश के आलोक में राज्य के खाद्य संरक्षा आयुक्त नितिन मदन कुलकर्णी ने राज्य में 11 ब्रांडों के पान मसाले पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है. Also Read - झारखंड में सुरक्षाबलों ने मार गिराए तीन नक्‍सली, AK-47 समेत भारी मात्रा में मिले हथियार

प्रवक्ता ने बताया कि यह प्रतिबंध विभिन्न जिलों से प्राप्त 41 पान मसाला के नमूनों के जांच में मैग्नीशियम कार्बोनेट की मात्रा पाए जाने के कारण लगाई गई है. मैग्नीशियम कार्बोनेट से हृदय की बीमारी सहित विभिन्न प्रकार की बीमारियां होती है. Also Read - Migrant workers Flight: फ्लाइट से रांची पहुंचे 180 प्रवासी मजदूर, पहली बार प्लेन में बैठने की दिखी खुशी, सरकार को कहा धन्यवाद

पान मसाला के लिए खाद्य सुरक्षा कानून, 2006 में दिए गए मानक के मुताबिक मैग्नीशियम कार्बोनेट मिलाया जाना प्रतिबंधित है.

इस बीच झारखंड में तम्बाकू नियंत्रण हेतु राज्य सरकार की तकनीकी सहयोग संस्थान सोशियो इकोनॉमिक एंड एजुकेशनल डेवलपमेन्ट सोसाइटी (सीड्स) के कार्यपालक निदेशक दीपक मिश्र ने बताया की पान मसाला पर प्रतिबंध लगाकर राज्य सरकार ने साहसिक कदम उठाया है.

मिश्रा ने बताया कि सरकार द्वारा यदि पान मसाला के प्रतिबंध को राज्य में सही ढंग से लागू किया जाएगा, तो सूबे में तम्बाकू सेवन करने वाले लोगों की संख्या में कमी आएगी.