जमशेदपुर: झारखंड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में शनिवार रात एक तेज रफ्तार कार ने सड़क किनारे खड़े कई लोगों को कुचल दिया. पुलिस के अनुसार इस घटना में सात लोगों की मौत की पुष्टि की है. वहीं इस घटना में कई लोग घायल भी हुए हैं। घायलों में तीन की हालत गंभीर है. यह घटना चक्रधरपुर-चाईबासा के बीच एनएच-75 (ई) के किनारे बोरदा पुल के पास हुई. बताया जा रहा यहां सड़क किनारे पूजा करने के बाद लोग खड़े हुए थे. मामूली रूप से घायलों को चक्रधरपुर के रेलवे और अनुमंडल अस्पताल में भेज दिया गया है वहीं गंभीर रूप से घायल लोगों को जमशेदपुर के टीएमएच अस्पताल रिफर कर दिया गया है. Also Read - महाराष्ट्र: नेपाल से आ रही बस ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, CCTV में कैद हुई घटना

करीब एक साल पहले गोईलकेरा दसमा हेम्ब्रम की शादी हाटगम्हरिया निवासी चमन पाट पिंगुवा के साथ हुई थी. आदिवासी परंपरा के मुताबिक शादी के एक साल बाद दोनों पक्ष के लोग बोरदा पुल के पास ऐरे पूजा करने के लिए इकट्ठा हुए थे. इसमें लगभग 1 दर्जन से ज्यादा लोग थे. पूजा खत्म करने के बाद घर वापस लौटने के लिए ये सभी लोग सड़क पर खड़े थे तभी चाईबासा की ओर से आती हुई एक बेकाबू कार ने इन लोगों को रौंद दिया, जिसमें 3 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 4 लोगों ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. मौके पर मौजूद लोगों ने गाड़ी के ड्राईवर को पुलिस के हवाले कर दिया है. Also Read - Gujarat Road Accident: दो ट्रकों की भीषण टक्कर में 11 लोगों की मौत, 16 घायल, PM-CM ने जताया दुख

हादसे के विरोध में रविवार को ग्रामीणों और झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने रविवार को राष्ट्रीय राजमार्ग 75 को जाम कर दिया. इस वजह से काफी देर तक यातायात बाधित रहा. इस विरोध प्रदर्शन में चक्रधरपुर से झामुमो विधायक शशिभूषण सामड भी शामिल थे. उन्होंने डिप्टी कलेक्टर से फोन पर बात कर मृतकों के परिवारों के लिए उचित मुआवजे की मांग की. इसके बाद उन्होंने तत्काल प्रभाव से मृतकों के परिजनों को परिवार कल्याण सहायता के तहत 20-20 हजार रुपया मुआवजा देने का आश्वासन दिया है. ग्रामीणों ने प्रशासन के समझाने बुझाने के बाद जाम हटा लिया लेकिन वे दस लाख मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग पर अड़े हैं. उनका कहना है कि अगर मांग जल्द पूरी नहीं हुई तो वे फिर सड़क पर उतरेंगे. Also Read - तेल टैंकर से जा टकराई कार, भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की जलने से हुई मौत

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी हादसे में मारे गए लोगों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए जांच और तत्काल कार्रवाई के निर्देश दे दिए है. उन्होंने डिप्टी कलेक्टर और एसपी को घायलों के बेहतर इलाज के लिए भी कहा है.