रांची: झारखंड में आलमगीर आलम को मंगलवार को कांग्रेस विधायक दल का नेता चुन लिया गया. झारखंड विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद शाम को कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों के विधायक दल की बैठक यहां प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में हुई, जिसमें आलमगीर आलम को सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना गया.

कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने यहां इस बात की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि राज्य विधानसभा के लिए चुने गये 16 विधायकों की बैठक प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में हुई. उन्होंने बताया कि आलमगीर के नाम का प्रस्ताव स्वयं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने किया और इसका समर्थन पूर्व मंत्री राजेन्द्र सिंह ने किया.

विधायक दल के नेता के चुनाव की प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए केंद्रीय नेतृत्व ने छत्तीसगढ़ के कांग्रेस नेता टीएस सिंह देव को केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर यहां भेजा था. झारखंड विधानसभा के नव-निर्वाचित सदस्यों के साथ सरकार गठन व पार्टी की भागीदारी पर चर्चा में केंद्रीय पर्यवेक्षक टीएस सिंह देव, राज्‍य में कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह, सह प्रभारी उमंग सिंगार और अध्‍यक्ष व लोहरदगा से विधायक डॉ. रामेश्‍वर ओराव मौजूद थे.

कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद सभी विधायक झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन के घर गठबंधन दल के विधायकों की बैठक के लिए शाम साढ़े बजे एकत्र हुए, जहां हेमंत सोरेन को गठबंधन विधायक दल का नेता चुना जाएगा और फिर हेमंत सोरेन राज्यपाल से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे.