रांची: भाजपा झारखंड सरकार के सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा (Chhath Pooja) मनाने पर प्रतिबंध लगाने के फैसले से नाखुश है. राज्य सरकार ने कोरोनावायरस संक्रमण को फैलने के डर से यह निर्णय लिया है. राज्य सरकार के फैसले के विरुद्ध जाते हुए, रांची नगर निगम श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए घाटों पर पर्याप्त व्यवस्था कर रहा है. Also Read - Audio Case: भाजपा विधायक ललन कुमार पासवान ने लालू प्रसाद के खिलाफ दर्ज कराई प्राथमिकी, IG ने जांच के दिए आदेश

रांची की मेयर आशा लकरा और उप मेयर संजीव विजयवर्गीय ने अन्य अधिकारियों के साथ राजधानी के विभिन्न छठ घाटों का दौरा किया. मेयर ने कहा कि घाटों को साफ कर दिया गया है और अगले 24 घंटों में घाटों से जुड़ी सड़क को साफ कर दिया जाएगा, ताकि व्रतियों को कोई समस्या न हो. Also Read - अपहरण के बाद बलात्कार, बालिका गृह में नाबालिग ने दिया बच्चे को जन्म

मेयर और उप मेयर दोनों भाजपा से हैं. इस बीच रांची से भाजपा के सांसद संजय सेठ और अन्य भाजपा विधायकों ने राज्य सरकार के निर्णय के खिलाफ प्रदर्शन के लिए ‘जल सत्याग्रह’ किया. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने कहा, “विधानसभा उपचुनाव के दौरान चुनाव की रैलियां हो सकती हैं. बसें पूरी क्षमता के साथ चल सकती हैं. लोग शॉपिंग मॉल जा सकते हैं. तो फिर क्यों सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा पर प्रतिबंध लगाया गया है.” Also Read - Chhath Puja 2020: छठ पूजा का समापन आज, इस तरह से दें सूर्य को अर्घ्य, ये है पारण का समय