रांची: झारखंड में महागठबंधन की जीत के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेता हेमंत सोरेन अपने अन्य सहयोगियों के साथ 29 दिसम्बर को अपराह्र एक बजे रांची के मोराबादी मैदान में मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे. शपथ ग्रहण समारोह में विपक्ष के राष्ट्रीय स्तर के अनेक नेताओं और मुख्यमंत्रियों को भी आमंत्रित किया जायेगा. इससे पहले मंगलवार को हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश किया. मुख्यमंत्री के रूप में यह हेमंत सोरेन का दूसरा कार्यकाल होगा.

राज्यपाल से मिलने के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा, “हमने 50 विधायकों के समर्थन के साथ झारखंड में सरकार बनाने का दावा किया है. हमने राज्यपाल से राज्य में सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने का अनुरोध किया है.”


भव्य शपथ ग्रहण समारोह खुले मैदान में आयोजित किया जाएगा. समारोह में दूसरे राज्यों के मुख्यमंत्री और घटक दलों के नेता भी शिरकत करेंगे. बता दें कि झामुमो ने अपना अब तक का सबसे शानदार प्रदर्शन किया और सबसे ज्यादा सीटें जीती हैं. महागठबंधन में शामिल कांग्रेस ने भी अप्रत्याशित प्रदर्शन करते हुए झामुमो को सत्ता तक ले जाने में बड़ी भूमिका निभाई और राजद ने भी खाता खोला है. झारखंड विधानसभा चुनावों में झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन को 81 में से 47 सीटें मिली हैं.

इस दौरान उन्होंने नए नागरिकता कानून पर भी बयान दिया. उन्होंने कहा, “यदि संशोधित नागरिकता कानून की वजह से झारखंड से एक भी व्यक्ति हटता है तो इसे लागू नहीं किया जाएगा.”