चाईबासा: झारखंड में मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत करीब 11.5 लाख किसानों के खाते में शुक्रवार को 452 करोड़ रुपए डाले गए. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने यहां मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत नए लाभार्थियों को प्रथम किश्त की राशि के वितरण समारोह में यहां कहा कि केंद्र की किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज पर झारखंड में इस योजना का शुभारंभ किया गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि 10 अगस्त 2019 को योजना के तहत 13 लाख 60 हजार किसानों को 482 करोड़ रुपए की राशि उनके खाते में हस्तांतरित की गई थी. वहीं, 11 अक्टूबर 2019 को योजना से छूटे हुए 11 लाख 51 हजार 137 किसानों के खाते में 452 करोड़ की राशि हस्तातरित की जा रही है.

10 अगस्त को 13 लाख 60 हजार किसानों के खाते में 482 करोड़ रुपए ट्रांसफर की गई थी. 11 अक्टूबर 2019 को इस योजना के तहत बचे हुए लाभार्थियों को 452 करोड़ रुपए की राशि ट्रांसफर की गई.

बता दें कि जो राशि किसानों को दी गई है वो पहली किश्त का 50 प्रतिशत है. दीपावली से पहले दूसरी किश्त का 25 प्रतिशत राज्य के किसानों को प्राप्त होगा. नवंबर दिसंबर तक किसानों को तीसरी किश्त के दिए जाने की उम्मीद है. इस तरह राज्य के 35 लाख किसानों के खाते में राज्य सरकार 3 हजार करोड़ रुपए उनकी आर्थिक समृद्धि, कृषि संसाधन जुटाने हेतु प्रदान करेगी.

मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा कि किसानों को केंद्र सरकार की किसान सम्मान निधि योजना और राज्य सरकार की मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का लाभ मिल रहा है. किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को जल्द ही तीसरा किश्त दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि किसानों के बैंक खाते में पैसे होंगे तो उन्हें किसी के आगे हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी वो अपना काम इन पैसों से कर सकते हैं. जो किसान इस योजना का लाभ लेने से वंचित रह गए हैं वे परेशान ना हों. अपना निबंधन प्रखंड कार्यालय में ग्राम सभा से अनुमति प्राप्त कर अवश्य कराएं. किसानों को उनका हक मिले यह हमारा लक्ष्य है.

(इनपुट-भाषा)