रांची: झारखंड के सरायकेला खरसावां जिले में तिरुलडीह थाना क्षेत्र में पश्चिम बंगाल की सीमा के निकट संदिग्ध माओवादियों ने शुक्रवार शाम घात लगाकर हमला किया और गश्त पर निकले पुलिस कर्मियों की गाड़ी पर चारों तरफ से गोलीबारी की, जिसमें दो सहायक पुलिस निरीक्षकों समेत पांच पुलिस कर्मी शहीद हो गए. माओवादियों ने इन पुलिस कर्मियों के हथियार भी लूट लिए.

 

झारखंड के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) एवं प्रवक्ता मुरारी लाल मीणा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि शाम को गश्त पर निकले पुलिस जवानों के दल को माओवादियों ने बंगाल की सीमा के निकट तिरुलडीह थाना क्षेत्र में जंगलों में चारों ओर से घेर लिया और अंधाधुंध गोलीबारी की जिससे गाड़ी में सवार दो सहायक पुलिस निरीक्षकों और तीन सिपाहियों की मौत हो गई जबकि वाहन चालक ने मौके से किसी तरह भाग कर अपनी जान बचाई. उन्होंने बताया कि हमलावर नक्सली जवानों के हथियार भी लूटकर अपने साथ ले गए.

सूत्रों ने बताया कि माओवादी हमले में दो से तीन पुलिसकर्मी अभी लापता भी हैं, जिनकी तलाश की जा रही है. मुठभेड़ स्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को भेजा गया है. मीणा ने बताया कि शहीद सुरक्षाकर्मियों की पहचान सहायक पुलिस निरीक्षक गोवर्धन पासवान और मनोधन हांसदा एवं सिपाही धनेश्वर पूर्ति, युधिष्ठिर मालुवा और डिब्रू पूर्ति के रूप में की गई है. इस बीच, मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हमले पर दुख प्रकट करते हुए कहा है कि जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी. उन्होंने जोर देकर कहा कि राज्य में नक्सलवाद से सरकार कड़ाई से निपटेगी.