नई दिल्ली: झारखंड विधानसभा चुनाव (Jharkhand Assembly Election) के दूसरे चरण में अपनी किस्मत आजमा रहे कांग्रेस (Congress) के 60-70 प्रतिशत उम्मीदवार आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं. इस चरण के लिए मतदान सात दिसंबर को होना है. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) द्वारा संकलित और विश्लेषित आंकड़ों में यह खुलासा हुआ है. आंकड़ों से पता चला है कि चुनावी मैदान में उतरे कुल उम्मीदवारों में से 26 फीसदी के खिलाफ आपराधिक (Criminal cases) मामले दर्ज हैं, जबकि 17 फीसदी ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले घोषित किए हैं. Also Read - Congress President Election: कांग्रेस ने कहा- जून में उसका नया निर्वाचित अध्यक्ष होगा

Also Read - Breaking News, Congress President Election: जानें कब होगा कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, सोनिया ने किया ऐलान

झारखंड विधानसभा चुनाव: भाजपा ने किया नेताओं को आगाह, कहा- पार्टी के खिलाफ लड़ने वाला नेता होगा निष्कासित Also Read - कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक शुरू, नए अध्यक्ष के चुनाव को लेकर हो सकता है फैसला

प्रमुख दलों में और एडीआर द्वारा विश्लेषित होने वालों में, कांग्रेस से 67 प्रतिशत, झामुमो (Jharkhand Mukti Morcha) से 50 प्रतिशत, आजसू (AJSU) से 42 प्रतिशत, भाजपा (BJP) और जेवीएम-पी (JVM-P) से 40-40 प्रतिशत ने अपने हलफनामों में खुद के खिलाफ आपराधिक मामले घोषित किए हैं. जब बात गंभीर आपराधिक मामलों की आती है तो यहां भी कांग्रेस 50 प्रतिशत उम्मीदवारों के साथ चार्ट में सबसे ऊपर है. जबकि 36 फीसदी झामुमो से, 25 फीसदी भाजपा से, 25 फीसदी जेएमएम-पी से और आठ फीसदी आजसू से हैं.

कुछ राजनेताओं पर महिलाओं के खिलाफ अपराध से संबंधित गंभीर आरोप हैं. चार उम्मीदवारों ने महिलाओं के खिलाफ अपराध से संबंधित मामलों की घोषणा की है. चार में से एक उम्मीदवार ने दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध से संबंधित मामलों की घोषणा की है. सिर्फ कथित दुष्कर्मी ही नहीं, बल्कि कथित हत्यारे भी दूसरे चरण में चुनाव मैदान में हैं. आठ उम्मीदवारों ने घोषित किया है कि उनके पास आईपीसी की धारा -307 के तहत मामले दर्ज हैं, जो हत्या के प्रयास से संबंधित हैं.

राहुल गांधी ने किया ऐलान, अगर सरकार बनेगी तो किसानों की होगी कर्जमाफी, झारखंड में लाएंगे बदलाव

इस बीच, चार ने अपने खिलाफ हत्या के मामले घोषित किए हैं. तीन उम्मीदवार ऐसे हैं जिन्होंने माना है कि वे पहले अपराधों के लिए दोषी ठहराए जा चुके हैं. झारखंड इलेक्शन वॉच और एडीआर ने उन सभी 260 उम्मीदवारों के हलफनामों का विश्लेषण किया है, जो झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का चुनाव लड़ रहे हैं. झारखंड में सात दिसंबर को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के लिए मतदान हो रहा है. राज्य में पांच चरणों में चुनाव हो रहे हैं.

(इनपुट-आईएएनएस)