नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने गुरुवार को कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) सरकार ने झारखंड का निर्माण किया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र (Prime Minister Narendra Modi) मोदी की दूरदर्शिता इसे आगे लेकर जा रही है. यहां एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि झारखंड में पिछली सरकारों के दौरान बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ था, लेकिन राज्य में रघुबर दास (Raghubar Das) सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं है.

अमित शाह ने कहा कि, झामुमो (Jharkhand Mukti Morcha), कांग्रेस (Congress) और राजद (RJD) गठबंधन में राज्य विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं. “मैं हेमंत बाबू (सोरेन) (Hemant Soren) से पूछना चाहता हूं कि जब झारखंड के युवा अलग राज्य के लिए लड़ रहे थे तो कांग्रेस का क्या रुख था.” गृह मंत्री (Home Minister) ने दावा किया कि राज्य में कानून और व्यवस्था की स्थिति में सुधार हुआ है. रघुबर दास की सरकार ने नक्सलवाद (Naxal) को धरती के 20 फीट नीचे दबा दिया है. भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दास सरकार ने राज्य में 38 लाख घरों को बिजली प्रदान की है.

गौरतलब है कि झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 (Jharkhand Assembly Elections 2019) के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने बुधवार को यहां अपना घोषणा-पत्र (Manifesto) जारी किया. ‘झारखंड की समद्धि का संकल्प’ नाम से जारी अपने घोषणा-पत्र में ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मूल उद्देश्य के साथ गरीबों और गरीबी की बात की गई है.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने यहां घोषणा-पत्र को संकल्प पत्र के रूप में जारी करते हुए कहा, “संकल्प पत्र में भाजपा ने सत्ता में वापसी के बाद अगले पांच साल की सरकार में किए जाने वाले विकास कार्यों का उल्लेख किया है. इसमें राज्यभर के लोगों से लिए गए सुझावों को भी सम्मिलित किया गया है.” इस मौके पर मुख्यमंत्री रघुवर दास, भाजपा के विधानसभा चुनाव प्रभारी ओम माथुर (Om Mathur), केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा (Arjun Munda), भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा सहित पार्टी के कई नेता मौजूद थे.