रांची: झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए विपक्षी महागठबंधन ने शुक्रवार को सीट बंटवारे की घोषणा कर दी. महागठबंधन में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो), कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के शामिल होने की घोषणा की गई, और कहा गया कि महागठबंधन से झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री के उम्मीदवार होंगे. रांची प्रेस क्लब में झारखंड कांग्रेस प्रभारी आर पी़ एन सिंह और झामुमो के हेमंत सोरेन ने एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में इसकी घोषणा करते हुए कहा कि राज्य की 81 सीटों में से झामुमो 43 तथा कांग्रेस 31 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि राजद को सात सीटें दी गई हैं.Also Read - Bihar विधानसभा परिसर में मिलीं शराब की बोतलें, नीतीश कुमार ने तेजस्‍वी यादव के सवाल का दिया ये जवाब

उन्होंने कहा कि हेमंत सोरेन के नेतृत्व में महागठबंधन इस चुनाव को लड़ेगा तथा वही महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे. सिंह ने जोर देकर कहा, “किसी भी विधानसभा सीट पर दोस्ताना संघर्ष नहीं होगा. ऐसा करने वाले नेता पर संबंधित पार्टी तत्काल कार्रवाई करेगी.” Also Read - Parliament Winter Session: विपक्षी नेताओं ने की मुलाकात, वेंकैया नायडू की दो टूक-सांसदों को माफी मांगनी ही होगी

संवाददाता सम्मेलन में हेमंत सोरेन ने कहा कि घटक दलों से अभी कई मुद्दों पर बात जारी है. उन्होंने कहा, “हमने अभी एक कड़ी जोड़ी है. अभी और कड़ी जुड़ेगी.” उन्होंने कहा कि सीटों का प्रश्न नहीं है, झारखंड से भाजपा को हटाने की बात है. Also Read - विपक्षी दलों ने सांसदों के निलंबन की निंदा की, आगे की रणनीति के लिए मंगलवार को करेंगे बैठक

संवाददाता सम्मेलन में हालांकि राजद का कोई भी नेता उपस्थित नहीं था. समझा जा रहा है कि राजद सीट बंटवारे से नाराज है. सूत्रों के मुताबिक, राजद और झामुमो, कांग्रेस के बीच एक सीट को लेकर पेंच फंसा हुआ है. राजद आठ सीटों की मांग पर अड़ा हुआ है. कहा जा रहा है कि यही कारण है कि रांची में रहने के बावजूद तेजस्वी यादव संवाददाता सम्मेलन में नहीं आए.

(इनपुट-आईएएनएस)