रांचीः झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शनिवार को स्पष्ट किया कि लॉकडाउन की अवधि के बारे में उनकी सरकार पूरी तरह केन्द्र सरकार के दिशा निर्देशों का पालन कर रही है. सोरेन ने मीडिया से बातचीत में कहा कि लॉकडाउन की अवधि के मामले में उनकी सरकार पूरी तरह केन्द्र सरकार के साथ रही है और आगे भी उसके दिशा निर्देशों का पालन किया जायेगा. Also Read - कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भूमि पेडनेकर ने किया लोगों से ये अपील, बिग बी, अक्षय ने भी बढ़ाया हाथ  

उन्होंने राज्य के संसाधनों की बात करते हुए कहा कि राज्य नब्बे प्रतिशत अपने संसाधनों के लिए केन्द्र पर निर्भर करता है लिहाजा कोरोना वायरस के इस संकट में उसे केन्द्र सरकार के मदद की हर कदम पर आवश्यकता होगी. Also Read - Coronavirus in Indore News: हॉटस्पॉट इंदौर में संक्रमितों की संख्या 3,600 के पार, अब तक 145 मरीजों की मौत

केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा दुकानों के खोले जाने संबंधी छूट के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस सिलसिले में सभी 24 जिलों के उपायुक्तों को लॉकडाउन के दौरान उनके यहां की स्थितियों का आकलन करके ही दुकानों को खोलने की अनुमति देने कोकहा गया है. Also Read - कोरोना के आधे मरीज ठीक होकर घर लौटे, मृतकों की संख्या 6 हजार के पार

उन्होंने कहा कि फिलहाल राज्य में सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की दूकानें खुल रही हैं. इस बीच राज्य के वित्त मंत्री और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने स्वीकार किया है कि देश में लागू किये गये लॉकडाउन से कोरोना संक्रमण की स्थिति को नियंत्रित करने में भारी मदद मिली है.

उन्होंने एक बयान में कहा कि आगे इस लॉकडाउन में कोई छूट देने से पूर्व स्थितियों का पूरी तरह आकलन किया जायेगा और दुकानें खोलने की अनुमति वहीं दी जायेगी जहां सामाजिक दूरी बरतने का अनुपालन उचित ढंग से किया जायेगा.