Jharkhand Lockdown: कोरोना का तेजी से बढ़ता आंकड़ा, 15 जनवरी से हेमंत सरकार लगाएगी लॉकडाउन?

झारखंड में कोरोना का आंकड़ा तेजी से बढ़ता जा रहा है और इसे लेकर राज्य में लगाई गई पाबंदियों की मियाद 15 जनवरी को खत्म हो रही है. तो क्या इसके बाद राज्य में हेमंत सरकार लगाएगी लॉकडाउन? इसकी चर्चा तेज है.

Published: January 11, 2022 9:20 AM IST

By Kajal Kumari

Jharkhand Lockdown: कोरोना का तेजी से बढ़ता आंकड़ा, 15 जनवरी से हेमंत सरकार लगाएगी लॉकडाउन?
Image for representational purposes

Jharkhand Lockdown: झारखंड में सोमवार को कोरोना के 4482 नए मरीज मिले हैं और वायरस से संक्रमित दो लोगों की मौत भी हो गई है. राजधानी रांची में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, रांची में सोमवार को कोरोना के 1537 नए कोरोना मरीज मिले हैं. प्रदेश की हेमंत सोरेन सरकार के मंत्री से लेकर जज तक कोरोना संक्रमित हो गए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्य के पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं. मंत्री ने खुद इस बात की जानकारी सोशल मीडिया पर दी है. सोमवार को झारखंड की राजधानी रांची में कोरोना के नए संक्रमितों का आंकड़ा 15 सौ को पार कर गया. अब इससे लोगों की चिंता इस बात को लेकर है कि क्या कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए हेमंत सरकार फिर से राज्य में लॉकडाउन लगा देगी?

Also Read:

राज्य के 8 जिलों में मरीजों की संख्या 100 से अधिक

बता दें कि सोमवार को सबसे ज्यादा रांची में 1537 मरीज मिले. झारखंड में कोरोना संक्रमितों के केस में दूसरे स्थान पर जमशेदपुर रहा जहां 923 संक्रमितों की पहचान हुई वहीं रामगढ़ में 232 नए मरीज मिले. राज्य के  4 जिले ऐसे हैं जहां 20 से कम मरीज मिले हैं. इसके साथ ही 8 जिलों में 100 से अधिक मरीज मिले हैं, जबकि एक मात्र जिले लातेहार (5) में 10 से कम कोरोना मरीज मिले हैं.

24 ज‍िलों वाले झारखंड के अन्‍य 16 ज‍िलों की हालत भी कोई अच्‍छी नहीं है. वहां भी कोरोना का व‍िस्‍फोट जारी है. अब तो राज्य में कोरोना ने मुख्यमंत्री आवास पर भी कब्जा जमा लिया है और इसके साथ ही राज्य के कई मंत्री और विधायक, डाक्‍टर, सरकारी कर्मचारी, प्राइवेट कर्मचारी तक, कोरोना की चपेट में आ गए हैं. वहीं, नए कोरोना मरीजों की संख्‍या भी बढ़कर 25000 को पार कर गई है.

तो क्या झारखंड में लग जाएगा लॉकडाउन….

झारखंड में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ती जा रही है और हर द‍िन इसमें गुणात्‍मक वृद्धि‍ होती जा रही है. अब लोगों को यह चिंता सता रही है कि अगर इसी तरह कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती रही तो क्या झारखंड में लाकडाउन लगा दिया जाएगा. कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के ल‍िए यह पहल राज्‍य सरकार करेगी ? अगर झारखंड में सरकार लाकडाउन लगाती है तो यह तीसरी लहर का यह पहला लॉकडाउन होगा.

15 जनवरी के बाद हो सकता है फैसला

बता दें कि सीएम हेमंत सोरेन ने आपदा प्रबंधन की बैठक के बाद ज‍िन पाबंद‍ियों की घोषणा की थी, उसकी म‍ियाद 15 जनवरी 2022 के बाद खत्‍म हो रही है. वहीं, कोरोना के बढ़ते मामले के साथ ही राज्य सरकार टुसू पर्व और मकर संक्रांत‍ि को लेकर अभी कोई कठोर फैसला नहीं ले रही है. राज्‍य सरकार नहीं चाहती क‍ि सख्त पाबंदियां लगाकर लोगों को पर्व मनाने से वंच‍ित क‍िया जाए. इसीलिए अब 15 जनवरी के बाद ही सरकार कोई कठोर फैसला ले सकती है. यह भी संभव है क‍ि राज्‍य सरकार लाकडाउन नहीं लगाकर पाबंद‍ियों सख्त कर सकती है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें देश की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 11, 2022 9:20 AM IST