Jharkhand News: झारखंड के लोहरदगा जिले में सेरेंदाग थाना क्षेत्र के पर्यटन स्थल धरधरिया और पेशरार थाना क्षेत्र के लावापानी में 20 से अधिक पर्यटकों के साथ हथियारबंद माओवादियों ने मारपीट और लूटपाट की एवं महिला पर्यटकों के साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ करके उनके अपहरण का भी प्रयास किया.Also Read - कोरोना ने मामलों में तेजी के बाद Jharkhand में नई गाइडलाइंस जारी, देखें क्या है पूरा दिशा-निर्देश

पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस घटना को माओवादियों ने अंजाम दिया. उन्होंने बताया कि लावापानी में सोमवार को लगभग 20 युवक-युवतियों से माओवादियों ने उनके मोबाइल फोन और कैमरे छीन लिए एवं उनसे बुरी तरह से मारपीट की. उन्होंने बताया कि मारपीट में कई लोगों को गंभीर चोटें आयी हैं. उन्होंने बताया कि इस मामले में पेशरार थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. Also Read - Agnipath Scheme Protest: कांग्रेस नेता के बिगड़े बोल-हिटलर की मौत मरेंगे पीएम मोदी, भाजपा ने कहा-जुबान संभालें..

दो अलग-अलग प्राथमिकियों में पीड़ित जितेंद्र, विकास मिंज ने उग्रवादियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. Also Read - Prophet Remark Row: हिंसा में रांची में दो की मौत, भारी संख्या में पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात

पुलिस ने बताया कि लोहरदगा, सेन्हा, शहर और प्रखंड क्षेत्र के 20 से अधिक युवक-युवती अलग-अलग टोलियों में लावापानी एवं धरधरिया जलप्रपात घूमने गए हुए थे. पुलिस ने बताया कि पीड़ितों के अनुसार, वहां एक व्यक्ति काले लिबास में आया जिसके हाथ में पिस्तौल और वॉकी टॉकी थी. पीड़ितों के अनुसार, हथियारबंद युवक ने पर्यटन स्थल पर मौजूद लड़कों की पिटाई की और लड़कियों को यह कह कर बंदूक के बल पर अपने साथ ले जाने लगा कि वह नक्सली संगठन का आदमी है.

पुलिस के अनुसार पीड़ितों का कहना है कि बीच-बीच में वॉकी-टाकी पर वह संदिग्ध उग्रवादी किसी से बात कर रहा था और बता रहा था कि यहां लावा पानी इलाके में काफी लड़के-लड़की घूमने आए हैं. पुलिस के अनुसार उसने अपने आका को सूचित किया कि सभी का मोबाइल छीन लिया है और उन्हें साथ लेकर आ रहे हैं. पुलिस के अनुसार हालांकि थोड़ी देर बाद वह सभी को छोड़कर उनके मोबाइल और कैमरे लेकर वहां से चला गया.

सूत्रों के अनुसार पुलिस पीड़ितों से पूरी जानकारी लेने के बाद आवश्यक कार्रवाई में जुट गई है. मामले पर पेशरार थाना प्रभारी ऋषिकांत शर्मा ने बताया कि घटना को भाकपा माओवादी रविंद्र गंझू के दस्ते ने अंजाम दिया है. उन्होंने बताया कि मामले को लेकर मामला दर्ज करके आगे की करवाई की जा रही है. उन्होंने कहा कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि लावापानी जलप्रपात उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में होने के कारण वहां कई बार इस तरह की घटना को रविंद्र गंझू दस्ता अंजाम देता है. इस घटना के बाद क्षेत्र में खौफ का माहौल है.