मेदिनीनगर (झारखंड): झारखंड के पलामू जिले में हिंसक झड़प के बाद चांदो गांव और इसके आसपास के इलाकों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधात्मक आज्ञा लागू की गई है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी. यहां दो समुदायों के बीच झड़प में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और पांच अन्य घायल हो गये थे.

पलामू के उपायुक्त शांतनु कुमार अग्रहरि ने शनिवार को बताया कि मरने वाला व्यक्ति उस ट्रैक्टर चालक का मित्र था जो दशमी पर घाट के निकट विसर्जन के लिए मूर्तियों को ले जा रहा था. उन्होंने कहा कि जब लोगों के एक समूह ने मूर्ति विसर्जन के लिए एक धार्मिक जुलूस निकाले जाने वाले मार्ग का विरोध किया तो झड़प शुरू हो गई. स्थिति उस समय हिंसक हो गई जब मूर्तियों से लदा एक ट्रैक्टर एक दीवार से टकरा गया और पलट गया क्योंकि चालक विरोध के बावजूद आगे बढ़ने का प्रयास कर रहा था. अग्रहरि ने बताया कि चालक के मित्र की शनिवार की सुबह मेदिनीनगर सदर अस्पताल में मौत हो गई. इस अस्पताल में तीन पुलिसकर्मियों समेत पांच अन्य का इलाज चल रहा है.

झारखंड: दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के दौरान झड़प में 11 लोग घायल, 10 वाहन फूंके

छह वाहनों में तोड़फोड़ और तीन दुकानों में लगाई आग
पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने बताया कि दो उग्र समूहों ने छह वाहनों में तोड़फोड़ की और क्षेत्र में तीन दुकानों में आग लगा दी. उन्होंने बताया कि पुलिस ने दो समूहों के सदस्यों को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोलियां भी चलाई. उन्होंने कहा कि इस सिलसिले में छह लोगों को हिरासत में लिया गया है और कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बनाये रखने के लिए क्षेत्र में पर्याप्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है.

500 रुपए का नोट थमाकर कर दिया लड़की का धर्मांतरण, सरकारी पशु-चिकित्सक गिरफ्तार

पुलिस का दावा, हालात काबू में
जिला प्रशासन के अधिकारियों ने दोनों समुदायों के वरिष्ठ नागरिकों से क्षेत्र में स्थिति सामान्य बनाये जाने का आग्रह किया है. एसपी ने इस घटना को लेकर अफवाहें फैलाने वाले लोगों को चेतावनी दी है. उन्होंने कहा कि स्थिति अब नियंत्रण में है और पुलिस ने क्षेत्र में अशांति पैदा करने का प्रयास करने वाले उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किये जाने का निर्णय लिया है.