Jharkhand Unlock Latest Update: कोरोना के कम होते मामलों के बीच झारखंड की हेमंत सोरेन (Hemant Soren) सरकार ने राज्य में अनलॉक के नए चरण का ऐलान किया है. CM हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में हुई आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में कई अहम फैसले लिये गए हैं. इस दौरान स्कूल से लेकर धार्मिक स्थलों और रेस्टोरेंट को लेकर फैसला लिया गया है. बैठक के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी.Also Read - Jharkhand Unlock Latest Update: झारखंड की हेमंत सरकार का बड़ा ऐलान-खोल दिए जाएंगे सभी खेल प्रशिक्षण केंद्र

CMO ने ट्वीट कर कहा, ‘धार्मिक स्थलों पर श्रद्धालुओं के प्रवेश की अनुमति प्रदान की गई है. धार्मिक स्थल पर संचालन से सभी संबंधित व्यक्ति को कम से कम एक टीका लेना अनिवार्य होगा. जिलाधिकारी द्वारा चिन्हित धार्मिक स्थल जैसे ‘बाबा धाम’ मंदिर इत्यादी में ई- पास से अधिकतम 100 व्यक्ति 1 घंटे में प्रवेश कर सकेंगे. Also Read - Jharkhand Me Kab Khulenge School: झारखंड में जल्द खुलेंगे कक्षा 6 से ऊपर के सभी स्कूल, जानें सरकार का पूरा फैसला...

Also Read - झारखंड सरकार ने हॉकी खिलाड़ी सलीमा और निक्की प्रधान पर की तोहफों की बारिश, 50-50 लाख के चेक दिए, घर भी मिलेगा

वहीं, दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों में ‘दर्शन’ पर प्रतिबंध जारी रहेगा, लेकिन पूजा की अनुमति होगी, लेकिन प्रसाद का वितरण नहीं किया जाएगा. मूर्तियों को अधिकतम 5 फीट ऊंची करने की अनुमति होगी. उन्होंने आगे बताया, ’18 वर्ष से कम के व्यक्ति का प्रवेश अपेक्षित नहीं है. खाने पीने की कोई दुकान या ठेला आसपास नहीं लगेगा. विसर्जन जुलूस नहीं निकलेगा. जिला प्रशासन द्वारा चिन्हित स्थान पर विसर्जन किया जाएगा. पंडाल में किसी भी समय कोई व्यक्ति बिना मास्क के नहीं होगा. ढाक की अनुमति होगी.

वहीं, धार्मिक स्थल पर स्थान की 50% क्षमता में एकत्रित होने की अनुमति दी गई. सोशल डिस्टेंसिंग बनाना अनिवार्य होगा. बिना मास्क के प्रवेश नहीं होगा. उन्होंने बताया कि दुर्गा पूजा पंडाल के निर्माण की अनुमति दी गई है लेकिन पंडाल में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक रहेगी. पंडाल में एक समय में क्षमता का 50% या 25 से अधिक व्यक्ति के एकत्रित होने पर रोक रहेगी. मेला आयोजन प्रतिबंधित रहेगा और मूर्ति की अधिकतम ऊंचाई 5 फीट होगी. तोरण या स्वागत द्वार नहीं बनेगा.

उन्होंने बताया कि पंडाल किसी थीम पर आधारित नहीं होगा. पंडाल तीन तरफ़ से घेरा जाएगा. भोग वितरण नहीं किया जाएगा. पूजा समिति द्वारा आमंत्रण पत्र नहीं वितरित किया जाएगा. आवश्यक रोशनी को छोड़ कर आकर्षक रोशनी प्रतिबंधित होगी. संस्कृतिक कार्यक्रम जैसे गरबा, डांडिया इत्यादि प्रतिबंधित रहेंगे.

हेमंत सोरेन ने बताया, ‘कॉलेज में स्नातक और स्नातकोत्तर शिक्षा के सभी वर्ष की ऑफलाइन कक्षा की अनुमति दी गई. स्कूल में 6 से 8 तक ऑफलाइन कक्षा की अनुमति दी गई. सभी खेल कूद की गतिविधियों की बगैर दर्शक के आयोजन की अनुमति दी गई. बार और रेस्तरां को 11 बजे रात तक खोलने की अनुमति दी गई.

उधर, बैठक के बाद झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि राज्य में कक्षा 6 से ऊपर की सभी कक्षाओं के लिए स्कूल खोल दिए जाएंगे. इसके साथ-साथ सभी कॉलेज भी खोले जाएंगे. उन्होंने बताया कि छठी कक्षा से नीचे के छात्रों के लिए अभी स्कूल बंद रहेंगे. कक्षा 6 और उससे ऊपर के छात्रों के लिए सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक कक्षाएं फिर से शुरू होंगी.

बता दें कि इसके अलावा राज्य में रविवार को होने वाले लॉकडाउन को भी खत्म कर दिया गया है. अब रविवार को भी सभी दुकानें खुल सकेंगी. वहीं राज्य में रेस्टोरेंट खोलने की समय सीमा को बढ़ाने का फैसला किया गया. राज्य में अब रात 11 बजे तक रेस्टोरेंट खुले रहेंगे.