गिरिडीह, (झारखंड): झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) के प्रमुख बाबू लाल मरांडी ने रविवार को विपक्ष के गठबंधन से अलग होने का ऐलान करते हुए कहा कि उनकी पार्टी राज्य की सभी 81 विधानसभा सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ेगी. झाविमो (प्र) 2019 के लोकसभा के चुनाव में महागठबंधन का हिस्सा था. इसके तहत उसने गोड्डा लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा था.

कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) और राष्ट्रीय जनता दल ने झाविमो (प्र) के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव से पहले महागठबंधन बनाया था. पूर्व मुख्यमंत्री ने गिरिडीह जिले के राजधनवार में कहा कि झाविमो (प्र) किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगा. हम अपने दम पर सभी 81 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद, मैंने विपक्षी पार्टियों से बातचीत करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई. अब किसी भी गठबंधन के लिए कोई समय नहीं है.

झारखंड विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान, अब तक साफ नहीं हुई गठबंधनों की स्थिति

झारखंड में 30 नवंबर से शुरू होंगे विधानसभा चुनाव
मरांडी ने कहा कि उन्होंने उम्मीदवारों का चयन करने से पहले सभी विधानसभा क्षेत्रों के पार्टी नेताओं से चर्चा करने के लिए पांच और छह नवंबर को बैठक बुलाई है. संसदीय चुनाव से पहले, महागठबंधन ने ऐलान किया था कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव में नेतृत्व करेगी वहीं, विपक्ष विधानसभा चुनाव झामुमो की अगुवाई में लड़ेगा. झारखंड में विधानसभा चुनाव 30 नवंबर से शुरू होंगे और 20 दिसंबर तक चलेंगे. चुनाव पांच चरणों में होंगे और नतीजे 23 दिसंबर को आएंगे.  (इनपुट एजेंसी)

BJP झारखंड विधानसभा चुनाव में जीतेगी 65 सीटें, दास होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा: माथुर