Lalu Yadav, Bihar fodder scam, Delhi AIIMS, Ranchi, RJD, चारा घोटाला मामले में सजा काट रहे आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को निमोनिया होने के बाद रिम्स प्रशासन ने उन्हें दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भेजने का फैसला किया है. रिम्स) के निदेशक ने कहा, उनकी उम्र को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए हमने उन्हें दिल्ली एम्स स्थानांतरित करने का फैसला किया है.Also Read - Bihar Politics: बिहार में फिर होगी उलट-फेर? मुकेश सहनी ने दिए बड़े संकेत, तेजस्वी को बताया-छोटा भाई

राजेन्द्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) के निदेशक डॉ. कामेश्वर प्रसाद ने बताया, लालू यादव को दो दिन से सांस लेने में कुछ तकलीफ हो रही थी, जिसके बाद शुक्रवार को उनकी जांच की गई और उसमें निमोनिया की पुष्टि हुई. उनकी उम्र को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए हमने उन्हें दिल्ली एम्स स्थानांतरित करने का फैसला किया है और आज ही उन्हें एम्स भेजे जाने की संभावना है. एम्स में विशेषज्ञों से हमारी बातचीत हो गई है. Also Read - UP Assembly Election 2022: SP-RLD गठबंधन ने जारी की 29 उम्मीदवारों की लिस्‍ट, देखें यहां

डॉ. प्रसाद ने कहा, ” प्रशासन और यादव के परिजन उन्हें एम्स में भर्ती करने के लिए ले जाने हेतु एयर एंबुलेंस की व्यवस्था कर रहे हैं और इसकी व्यवस्था होते ही लालू प्रसाद यादव को एम्स रवाना कर दिया जाएगा. ” Also Read - UP: चार बार कांग्रेस विधायक रहे गजराज सिंह ने RLD ज्‍वाइन की, जयंत चौधरी ने किया स्‍वागत

इस बीच जेल प्रशासन की सलाह पर रिम्स ने आठ विभिन्न विशेषज्ञ चिकित्सकों का मेडिकल बोर्ड गठित किया है, जो लालू के स्वास्थ्य की जांच कर रहा है और उसकी रिपोर्ट प्राप्त होते ही उन्हें एम्स के लिए रवाना कर दिए जाने की संभावना है.

इससे पूर्व यादव के छोटे बेटे एवं बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर बताया, ”खबर मिली कि लालू जी जो सांस लेने में समस्या हो रही है, उनकी किडनी 25 प्रतिशत ही काम कर रही है, हम माता और भाई के साथ रांची जा रहे है, हमने उनसे मिलने की विशेष अनुमति मांगी हैं……”

जानकारी के अनुसार लालू का स्वास्थ्य लगातार बिगड़ रहा है. जिसे देखते हुए उन्हें एम्स भेजने की तैयारी चल रही है. डॉक्टरों के बोर्ड की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है,लालू को दिल्ली भेजने के लिए जेल प्रशासन को सीबीआई अदालत से भी स्वीकृति लेनी होगी.