नई दिल्‍ली: देश में एक दिन पहले शुक्रवार को एक बड़ा विमान हादसा हुआ है, जिसके बाद शनिवार को एक दूसरा विमान हादसा होते-होते बच गया. झारखंड की राजधानी रांची के एयरपोर्ट से एयर एशिया की फ्लाइट (i5-632) मुंबई के लिए उड़ान भरने वाली थी, तभी एक पक्षी टकरा गया.Also Read - Mumbai: पत्नी ने पढ़ाई नहीं करने पर बच्चों को पीटा तो पति ने मार दिया चाकू

विमानन कंपनी का प्रवक्ता ने मुंबई को रांची से रवाना हो रहे एयर एशिया का विमान पक्षी से टकराया, विमान को उड़ान भरने से पहले रोका गया. Also Read - Mumbai Schools Reopen: मुंबई में कल से नहीं 15 दिसंबर से खुलेंगे प्राइमरी स्कूल, BMC का बड़ा फैसला

Also Read - Delhi: अंतरराज्यीय साइबर ठगों के गैंग का भंडाफोड़, क्लिकजैकिंग, सिम ब्लॉक कर लाखों उड़ा देते हैं ये लुटेरेे

एयरपोर्ट अधिकारी ने बताया कि बर्डहिट के कारण रांची एयरपोर्ट पर मुंबई जाने वाली एयर एशिया फ्लाइट (i5-632) ने टेक-ऑफ करने से पहले रोक दिया गया है. सभी यात्री सुरक्षित हैं. प्रवक्ता ने बताया कि पायलट ने उड़ान भरने की प्रक्रिया रोक दी और मौजूदा समय में विमान का निरीक्षण किया जा रहा है.

रांची की घटना के बारे में एयर एशिया के प्रवक्ता ने बताया, ” कंपनी के विमान वीटी-एचकेजी का परिचालन रांची से मुंबई के लिए उड़ान संख्या आई5-632 के तौर पर किया जा रहा था. आज, आठ अगस्त 2020 को उड़ान भरने के निर्धारित समय पूर्वाह्न 11 बज कर 50 मिनट के समय एक पक्षी इससे टकरा गया.”

एयर एशिया के प्रवक्ता ने कहा कि विमान को परिचालित करने की अनुमति मिलते ही इसके अपने गंतव्य के लिए उड़ान भरने का कार्यक्रम है.

प्रवक्ता ने कहा,‘‘एयर एशिया इंडिया अपने अतिथियों और चालक दल के सदस्यों की सुरक्षा को प्राथमिकता देती है और उड़ान में देरी से हुई असुविधा के लिए खेद व्यक्त करती है.”

बता दें कि कल ही शुक्रवार को केरल के कोझिकोड हवाईअड्डे पर शुक्रवार को एअर इंडिया एक्सप्रेस के एक विमान के रनवे से फिसल कर 35 फीट गहरी खाई में गिर जाने और उसके दो टुकड़े हो जाने के एक दिन बाद हुई. दुबई से आई उड़ान में 190 लोग सवार थे, जिनमें 18 लोगों की मौत हो गई.

बता दें कि एअर इंडिया एक्सप्रेस की बी737 द्वारा दुबई से संचालित उड़ान संख्या आईएक्स 1344 कोझिकोड में शुक्रवार शाम सात बजकर 41 मिनट पर हवाईपट्टी से फिसल गई थी. इस विमान हादसे में प्‍लेन दो टुकड़ों में बंट गया था. विमान में 10 नवजात शिशुओं समेत 184 यात्री, दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य सवार थे. इस हादसे में कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई है. विमान के दोनों पायलटों की भी मौत हो चुकी है.