विश्रामपुर (पलामू): केंद्रीय मंत्री तथा भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने शुक्रवार को यहां आरोप लगाया कि आजादी के बाद सत्तर वर्षों में कांग्रेस ने पुश्त दर पुश्त देश में गरीबी दूर करने के नारे दिए लेकिन यहां गरीब जनता की गरीबी तो दूर हो न सकी अलबत्ता सिर्फ कांग्रेसी नेताओं और उनके कुछ चेलों की गरीबी दूर होती रही.

केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यहां विश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र में आज दोपहर अपनी चुनावी सभा में यह आरोप लगाए. उन्होंने कहा कि वह पंडित जवाहर लाल नेहरू के परनाती राहुल गांधी से पूछते हैं कि जब तुम्हारे परनाना देश से गरीबी दूर करने की बात करते थे तो कुछ नहीं हो सका.

उसके बाद फिर तुम्हारी दादी इंदिरा गांधी चुनावों में सिर्फ गरीबी हटाओं का नारा दिया करती थीं और इसी मुद्दे पर वह अनेक चुनाव जीतीं लेकिन देश से गरीबी बिलकुल नहीं दूर हुई इसके बाद बारी आई तुम्हारे पिता राजीव गांधी की तो उन्होंने तो स्वीकार ही कर लिया कि जब दिल्ली से एक रूपया जनता को भेजा जाता है तो 85 पैसे बीच के दलाल खा जाते हैं और सिर्फ 15 पैसे ही जनता के पास पहुंच पाते हैं. गडकरी ने सवाल किया, ‘‘क्या अब राहुल गांधी देश से गरीबी मिटा सकते हैं?’’

इसी प्रकार जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाये जाने के केन्द्र सरकार के फैसले के बारे में उन्होंने कहा कि इससे देश के सभी नागरिकों में आत्मसम्मान बढ़ा है. उन्होंने सवाल किया कि आखिर केन्द्र सरकार ने जब यह कदम उठाया तो आप ने उसकी मुखालफत क्यों की? उन्होंने सवाल पूछा कि देश की आजादी के बाद से सत्तर वर्षों तक कांग्रेस एवं अन्य सरकारों ने आखिर 370 हटाने के बारे में कोई भी फैसला क्यों नहीं किया?

उन्होंने देश की आधारभूत संरचना के विकास के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के योगदान को याद किया और कहा कि अब उसी तरह का बड़ा काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार कर रही है.