रांची : कांग्रेस के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्य के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने शुक्रवार को कहा कि राज्य के लगभग एक लाख प्रवासियों को अब तक देश के विभिन्न भागों से वापस लाया जा चुका है और राज्य सरकार बचे हुए अन्य प्रवासियों को शीघ्रता से वापस लाने के लिए कृतसंकल्प है. Also Read - महाराष्‍ट्र में कोरोना से आज 85 मौतें के साथ अब तक करीब 2000 मृत, कुल 60 हजार पॉजिटिव केस

कांग्रेस के केन्द्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल एवं पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंस में उरांव ने यह जानकारी दी. उरांव ने कहा कि झारखंड सरकार बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, कर्नाटक एवं मध्य प्रदेश समेत तमाम राज्यों से अपने प्रवासी श्रमिकों को लाने में जुटी हुई है. Also Read - ICC Meeting: टी20 विश्‍व कप 2020 के भविष्‍य को लेकर फैसला 10 जून तक स्‍थगित

उन्होंने बताया कि अब तक एक लाख लोगों को वापस लाया गया है जबकि शेष को लाने के लिए हर संभव कदम उठाये जा रहे हैं. इससे पहले झारखंड के मुख्यमंत्री भी कह चुके हैं कि राज्य सरकार बराबर दूसरे राज्यों से संपर्क बनाए हुए हैं. Also Read - Coronavirus Effect: अब इस राज्य में पोस्टमैन घर-घर पहुंचाएंगे आम और लीची, जानें क्या है सरकार की प्लानिंग

सीएम हेमन्त सोरेन ने लॉकडाउन 4.0 की रणनीति पर कहा कि हमने पहले भी केंद्र के निर्देशों का अक्षरशः पालन किया है और आगे भी केंद्र सरकार जो दिशा निर्देश जारी करेगी सरकार उसी के अनुसार राज्य में लॉकडाउन के मौजूदा रूप में परिवर्तन करेगी. उन्होंने कहा कि हम वह सभी कारगर कदम उठाने की कोशिश कर रहे हैं जिससे कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके.