Jharkhand News: राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (National Health Mission) अंतर्गत सिमडेगा सदर अस्पताल (Simdega Sadar Hospital) में पदस्थापित जिला कार्यक्रम प्रबंधक (District Project Manager) राजीव कुमार पर अस्पताल की कई महिला कर्मचारियों ने यौन शोषण का आरोप लगाया है, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है. महिलाओं ने आरोप लगाया है कि नौकरी दिलाने का झांसा व कई तरह के प्रलोभन देकर डीपीएम ने उनका यौन शोषण (Sexual harassment)किया और उनका अश्लील वीडियो बनाकर उन्‍हें ब्‍लैकमेल कर रहा था. Also Read - मौसी को भगाकर ले गया भांजा, दोनों ने मंदिर में रचा ली शादी, जैसे ही घरवालों को पता चला, फिर..

मामला दर्ज होने के बाद डीपीएम सिमडेगा छोड़कर फरार हो गया था. पुलिस ने उसकी तलााशी शुरू की और उसे कोलेबिरा के वन विभाग के चेकनाका के पास से गिरफ्तार किया है. एसपी डा.शम्स तबरेज ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार डीपीएम राजीव कुमार मूलत: जमशेदपुर के पास सटे सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर हाउसिंग कालोनी के रहने वाला है. Also Read - Corona Spike in Jharkhand: प्रदेश में बढ़ता कोरोना का कहर, 24 घंटे में 873 नए मामले सात की मौत

डीपीएम के खिलाफ महिला थाना में आइटी एक्ट की धारा भी लगाई गई है. गिरफ्तार डीपीएम के पास से लैपटॉप, मोबाइल, कार्ड रीडर, पेन ड्राइव व डीवीडी बरामद किए गए हैं. Also Read - Jharkhand: मंत्रीजी को बदलवाना पड़ा फेफड़ा, इस विधायकजी की बीमारी थोड़ी हटके है, जानिए

एसपी ने बताया कि अस्पताल की महिला कर्मचारियों ने पुलिस को दी सूचना में बताया है कि डीपीएम इस तरह के कुकृत्‍य करने के लिए कई प्रकार से प्रलोभन देता था, नौकरी लगाने के नाम तथा अश्लील वीडियो बनाकर कई महिलाओं को अपने जाल में फांसकर यौन शोषण कर रहा था. पुलिस उसे इस कुकृत्य की कड़ी सजा दिलाएगी और महिलाओं को न्याय दिलाएगी.

वहीं,सिमडेगा सदर अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ पीके सिन्हा ने कहा कि डीपीएम राजीव कुमार के इस करतूत से अस्पताल और स्वास्थ्य विभाग की बदनामी हुई है. घटना शर्मनाक है. मामले में विभाग को रिपोर्ट सौंप दी गई है. जल्द ही आरोपी के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई होगी.

आरोपी डीपीएम राजीव कुमार सिमडेगा से पहले साहेबगंज सदर अस्पताल में तैनात थे. वहां भी उनपर अनैतिक बहाली का आरोप लगा था. अब सिमडेगा में उनपर संगीन आरोप लगा है.