जमशेदपुर, तीन दिसंबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों की सरकारों पर अनिर्णय की स्थिति पैदा करने और देश के लिए महत्वपूर्ण मसलों को लटकाये रखने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश की जनता ने उन्हें कठोर निर्णय लेने के लिए चुन कर भेजा है और वह देश हित में बड़े फैसले ले रहे हैं. मोदी ने चुनावी रैली में कहा, ‘‘आजादी के बाद से हिंदुस्तान के हर कोने में जम्मू कश्मीर और 370 की चर्चा चल रही थी. संविधान में 370 को अस्थायी लिखा था, लेकिन एक टोली उसे स्थायी बनाने में जुटी थी, कोई उसे हाथ लगाने को तैयार नहीं था, लेकिन देश की जनता ने मोदी को कठोर निर्णय लेने के लिए भेजा है. मैं राजनीति के हिसाब किताब नहीं करता हूं मैं सिर्फ देशनीति को देखता हूं. इसलिए दशकों से लटका 370 खत्म हो सका.’’

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार राम मंदिर के राष्ट्रीय महत्व के इतने बड़े मसले को साजिशन लटकाया गया. उन्होंने कहा कि संवेदनशीलता हो या फिर मुश्किल फैसले लेने का साहस, ये सिर्फ भाजपा की सरकारों ने करके दिखाया है. उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस ने पहले षड्यंत्र करके राम जन्मभूमि मामले को उलझाया, लटकाया और अपनी राजनीति के लिए उसका उपयोग किया. लेकिन आज इतना बड़ा मामला शांति से निपट गया. हर समाज ने उसका स्वागत किया और भाईचारा मजबूत हुआ. यही तो राम जी की ताकत है.’’ प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने अपनी सरकार के पांच साल के कार्यकाल में झारखंड की रेल परियोजनाओं के लिए सिर्फ 2 हजार करोड़ रुपये आवंटित किए थे जबकि भाजपा सरकार पिछले पांच वर्ष में इसका 5 गुना अर्थात 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक झारखंड को रेल परियोजनाओं के लिए दिये.

उन्होंने कहा कि 2014 से पहले के पांच वर्ष में जहां झारखंड में 300 किलोमीटर से कम की रेल लाइनें चालू हुईं तो केंद्र में भाजपा शासन के दौरान लगभग 700 किलोमीटर रेलवे लाइनें बनीं. मोदी ने कहा कि भारत में ही बने स्टील से आज रेलवे ट्रैक, मेट्रो ट्रैक और वंदे भारत एक्सप्रेस जैसी आधुनिक ट्रेनें बन रही हैं. आने वाले समय में स्टील की मांग और उत्पादन और तेज होने वाला है इससे झारखंड में स्टील उद्योग के विस्तार की पूरी संभावना है.

(इनपुट भाषा)