Lalu Prasad Yadav: बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री (Bihar Ex Chief Minister) राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव(RJD Supremo Lalu prasad Yadav) को हार्ट अटैक (Heart Attack)का खतरा है, डॉक्टरों ने अपनी मेडिकल जांच रिपोर्ट सौंपते हुए हाईकोर्ट में ये बात कही थी. शुक्रवार को चारा घोेटाला मामले में झारखंड हाई कोर्ट(Jharkhand High Court) में सुनवाई हुई जिसमें लालू की मेडिकल रिपोर्ट दाखिल की गई. Also Read - ढाई साल बाद पिता लालू को मिली जमानत तो भावुक हुए तेजस्वी, कहा-खुशी भी है और ये गम भी...

हाईकोर्ट में दाखिल की गई मेडिकल रिपोर्ट में (Lalu medical report) कहा गया है कि लालू को हार्ट अटैक की संभावना है और  उनकी किडनी फेल्‍योर का भी गंभीर खतरा है जिसके कारण ही बेहतर इलाज के लिए उन्हे एम्स, दिल्‍ली(Delhi AIIMS) भेजा गया है. Also Read - Lalu Prasad Yadav: चारा घोटाला मामले में लालू को मिल गई जमानत, जल्द जेल से बाहर आएंगे राजद सुप्रीमो

रांची हाई कोर्ट के जस्टिस अपरेश कुमार सिंह की अदालत में चारा घोटाला (Foddr Scam) के मामले में लालू यादव की जमानत याचिका के साथ ही लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav)के जेल उल्लंघन मामले में भी शुक्रवार को सुनवाई हुई. अपर महाधिवक्ता आशुतोष आनंद ने अदालत को बताया कि लालू यादाव की मेडिकल रिपोर्ट आ गई है जिसमें कहा गया है कि लालू प्रसाद को निमोनिया हो गया था. Also Read - Jharkhand: एक ही फंदे से लटक कर प्रेमी युगल ने दी जान, दोनों आपस में थे करीबी रिश्तेदार

हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान रिम्स निदेशक ने कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगते हुए लालू को एम्स भेजने के लिए बनी मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट अदालत में दाखिल कर दी है. अदालत ने निदेशक के माफीनामा को स्वीकार कर लिया.

दरअसल, पिछली सुनवाई के दौरान मेडिकल रिपोर्ट दाखिल नहीं किए जाने पर कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए रिम्स निदेशक को शो-कॉज जारी किया था और पूछा था कि अदालत के आदेश के बाद भी मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट अदालत में क्यों नहीं पेश गई है. इसके अलावा जेल आइजी की ओर से जेल मैनुअल में संशोधन की एसओपी अदालत में दाखिल की गई.

दोनों रिपोर्ट को देखने के बाद उच्‍च अदालत ने लालू यादव के खिलाफ जेल मैनुअल उल्‍लंघन मामले में स्‍वत: संज्ञान लेकर की जा रही सुनवाई अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी. इस दौरान लालू प्रसाद के अधिवक्ता देवर्षि मंडल ने बताया कि एम्स में लालू प्रसाद का इलाज हो रहा है. उनकी स्थिति में थोड़ा बहुत सुधार है.

एम्स के डॉक्टरों ने लालू प्रसाद यादव के इलाज के लिए तीन से चार हफ्ते का और समय मांगा है. जेल आइजी, झारखंड बिरेंद्र भूषण ने एम्‍स दिल्‍ली के आग्रह को स्वीकार कर लिया है. इस तरह लालू की इलाज की अवधि चार हफ्ते के लिए और बढ़ गई है.