रांची: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद चारा घोटाले के एक मामले में गुरुवार को अदालत में हाजिर होंगे और अपना बयान दर्ज कराएंगे. लालू फिलहाल राजेंद्र इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (रिम्स) में इलाजरत हैं. सीबीआई के विशेष न्यायाधीश एस.के. शशि की अदालत ने डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये की अवैध निकासी मामले(कांड संख्या आरसी 47ए/96) में लालू प्रसाद के बयान दर्ज करने की तारीख 16 जनवरी निर्धारित की है.

लालू प्रसाद चारा घोटाले के पांच मामलों में आरोपी रहे हैं. कई मामलों में फैसला आ चुका है. उल्लेखनीय है कि कांड संख्या आरसी 47ए/96 मामले में वर्तमान में लालू समेत 111 आरोपी सुनवाई का सामना कर रहे हैं. इनमें से 109 आरोपियों के बयान दर्ज किए जा चुके हैं. आरोपितों के बयान दर्ज होने के बाद बचाव पक्ष की ओर से गवाह पेश किए जाएंगे. आरोपितों की ओर से अदालत में गवाहों की सूची सौंपी जाएगी. अदालत के आदेश से गवाही आरंभ होगी. गवाही के बाद बचाव पक्ष एवं अभियोजन पक्ष में बहस होगी. इसके बाद सजा के बिंदु पर सुनवाई होगी.

रांची की एक जेल में सजा काट रहे हैं लालू
उल्लेखनीय है कि चारा घोटाले के चार मामलों में अब तक लालू प्रसाद को सीबीआई की विशेष अदालत से सजा हो चुकी है. इसमें देवघर कोषागार मामला, दुमका कोषागार मामला और चाईबासा कोषागार के दो मामले शामिल हैं. लालू फिलहाल रांची की एक जेल में सजा काट रहे हैं. स्वास्थ्य कारणों से वह रिम्स में भर्ती हैं.