नई दिल्ली: झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेता हेमंत सोरेन ने दूसरी बार रविवार (29 दिसंबर) को झारखंड के 11 वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. शपथ ग्रहण समारोह में विभिन्न राज्यों के कई नेताओं ने भाग लिया. यह शपथ ग्रहण समारोह दोपहर 2 बजे रांची के मोहराबदी मैदान में हुआ. झारखंड के राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने हेमंत सोरेन को गोपनीयता की शपथ दिलाई.


शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए. समारोह में डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन, आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह और राजद के कार्यकारी अध्यक्ष तेजस्वी यादव भी शामिल हुए. हेमंत सोरेन के पिता और झामुमो प्रमुख शिबू सोरेन भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए. हालांकि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल इस समारोह में शामिल नहीं हुए.


कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रामेश्वर उरांव और राजद विधायक सत्यानंद भोक्ता ने भी समारोह में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली. बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की यूपीए की अगुवाई वाली सरकार में ओरांव राज्य मंत्री थे. पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता रघुबर दास भी हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए. जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि झामुमो नेता ने दास को समारोह में भाग लेने के लिए फोन पर आमंत्रित किया था.


झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन ने 81 सदस्यी झारखंड विधानसभा में 47 सीटें जीतीं, और उन्हें तीन और एक विधायक वाले जेवीएम-पी और सीपीआई-एमएलएल का भी समर्थन मिला है. यह पहली बार है कि राज्य में 50 से अधिक विधायकों के समर्थन वाली सरकार का गठन किया गया है.