West Bengal Assembly Elections 2021: चुनावी राज्य पश्चिम बंगाल में प्रचार पर चुनाव आयोग (ECI) की लगाम के बाद प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने गुरुवार (22 अप्रैल, 2021) को अपनी सभी चुनावी सभाओं को रद्द करने की घोषणा की. सीएम ममता ने ट्वीट कर कहा कि देश में संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच और निर्वाचन आयोग के 22 अप्रैल के आदेश के बाद, मैं अपनी सभी पहले से निर्धारित सभाओं को रद्द कर रही हूं. अब हम वर्चुअली बैठकों के जरिए लोगों तक अपनी बात पहुंचाएंगे. ट्वीट में आगे कहा कि जल्द ही वर्चुअली बैठकों का शेड्यूल साझा किया जाएगा.Also Read - देश भर में 2,100 राजनीतिक दलों पर एक्शन लेगा चुनाव आयोग, जानें क्या है वजह....

इससे पहले आज चुनाव आयोग ने कोविड-19 की भयावह स्थिति को देखते हुए पश्चिम बंगाल में रोड शो और वाहन रैलियों पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी. निर्वाचन आयोग ने एक नोटिस जारी कर इसकी जानकारी दी. इसमें कहा गया कि रोड शो, साइकिल/बाइक/वाहन रैली की अनुमति वापस ले लगी गई है. पूर्व में दी गई अनुमति को भी वापस ले लिया गया है. Also Read - राजीव कुमार ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त के रूप में प्रभार संभाला, सुशील चंद्रा का लिया स्थान

Also Read - भारत में आएगी कोरोना की चौथी लहर? इस आईआईटी प्रोफेसर ने किया है ये दावा-जानिए क्या कहा

निर्वाचन आयोग ने बंगाल चुनाव के संदर्भ में कहा कि ये भी संज्ञान में आया है कि कई राजनीतिक दल या उमीदवार सार्वजनिक समारोहों के दौरान निर्धारित सुरक्षा मानदंडों का पालन नहीं कर रहे हैं. आयोग ने स्पष्ट किया कि अब बंगाल में 500 लोगों की सीमा से अधिक किसी भी सार्वजनिक बैठक की अनुमति नहीं होगी.

चुनाव आयोग के ऐलान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज 23 अप्रैल के अपने बंगाल दौरे को रद्द कर दिया. उन्होंने इस बाबत ट्वीट कर जानकारी दी. पीएम ने कहा कि कल कोविड-19 की मौजूदा स्थिति की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करूंगा. इसके चलते कल मैं पश्चिम बंगाल में नहीं जाऊंगा. पीएम मोदी को बंगाल चुनावी कार्यक्रम के तहत 23 अप्रैल को चार रैलियों को संबोधित करना था.

इस बीच चुनावी राज्य बंगाल में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड मामलों की पुष्टि हुई है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि प्रदेश में पिछले चौबीस घंटे में 11,948 नए केस मिले हैं और 56 लोगों की मौत हो गई.